पन्ना में.फिर चमकी मजदूर की क़िस्मत..रातोंरात मजदूर और उसके साथी बने लखपति, लगभग 40 लाख रुपये आंकी जा रही हीरे की अनुमानित कीमत

9:39 pm or September 13, 2021
पन्ना में.फिर चमकी मजदूर की क़िस्मत..रातोंरात मजदूर और उसके साथी बने लखपति, लगभग 40 लाख रुपये आंकी जा रही हीरे की अनुमानित कीमत
दिलीप शर्मा दीपक
पन्ना १३ सितम्बर ;अभी तक;  बुंदेलखंड के अति पिछड़े जिले पन्ना में कब किसकी किस्मत चमक जाए और यहां की धरा कब किसे रंक से राजा बनादे….. इसका कोई अंदाज नही लगाया जा सकता है। कुछ ऐसे ही कड़ी मेहनत के बाद रातोंरात किस्मत बदल गई पन्ना के एक मजदूर रतनलाल ओर उसके तीन साथियो की ,,,और कुछ ही दिनों में ये सभी लाखो रुपये के मालिक बन जाएंगे। पन्ना कलेक्टर संजय कुमार मिश्र का कहना है कि इस नायाब हीरे को अगली नीलामी में रखा जाएगा। नीलामी में जो बोली आएगी उस राशि का करीब बारह प्रतिसत रॉयल्टी काट कर हीरा मिलने बालों को शेष राशि दी जाएगी। उन्होंने बताया की पन्ना में उथली खानो से प्राप्त हीरों की अगली बोली आगामी 21 सितंबर 2021 को होगी,जिसमे इस हीरे को भी रखा गयेगा।
         चमचामाता हीरा लिए ये मजदूर रतनलाल प्रजापति औऱ उसके साथी है। जिन्होंने पन्ना नगर के समीप हीरापुर टपरियन में हीरा कार्यालय से पट्टा बनवाकर अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर हीरे की खदान लगाई थी। खदान में कड़ी मेहनत करने के बाद उन्हें आज चमचामाता हुआ उज्जवल किस्म का हीरा मिला। जिसे देख सभी साथियों की आंखे खुली की खुली रह गयी गई और सभी की खुशी से झूम उठे। इसके बाद मजदूर रतनलाल औऱ उसके साथियों ने हीरा कार्यालय में जा कर इस हीरे को जमा किया है। हीरे की अनुमानित कीमत 40 लाख के करीब आंकी जा रही है। हीरा मिलने से मजदूर और उसके साथी काफी खुश है। मजदूर का कहना है कि उनके घर की आर्थिक स्थिति काफी खराब थी उन्हें और उनके परिवार को खाने-पीने के लाले पड़े हुए थे। हीरे की नीलामी के बाद मिलने वाले पेसो को वह अपने सभी पार्टनरों में बराबर-बराबर बांटेंगा और अपने बच्चो के भविष्य में खर्च करेगा। वही कलेक्टर पन्ना का कहना है कि इस हीरे को 21 सितंबर से शुरू होने वाली नीलामी में रखा जाएगा।
 रतन लाल प्रजापति ने कहा कि पन्ना नगर के समीप हीरापुर टपरियन में हीरा कार्यालय से पट्टा बनवाकर अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर हीरे की खदान लगाई थी। खदान में कड़ी मेहनत करने के बाद उन्हें आज चमचामाता हुआ उज्जवल किस्म का हीरा मिला।
(मजदूर का पार्टनर ) रघुवीर प्रजापति  ने कहा कि  घर की आर्थिक स्थिति काफी खराब थी उन्हें और उनके परिवार को खाने-पीने के लाले पड़े हुए थे। हीरे की नीलामी के बाद मिलने वाले पेसो को वह अपने सभी पार्टनरों में बराबर-बराबर बांटेंगा और अपने बच्चो के भविष्य में खर्च करेगा।
कलेक्टर पन्ना संजय कुमार मिश्र ने कहा कि इस हीरे को 21 सितंबर से शुरू होने वाली नीलामी में रखा जाएगा। पन्ना में उथली खनोनो से प्राप्त हीरों की अगली बोली आगामी 21 सितंबर 2021 को होगी,जिसमे इस हीरे को भी रखा गयेगा।