पश्चिम बंगाल की जेहादी हिंसा पर कार्यवाही की मांग को लेकर राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

रवीन्द्र व्यास 
छतरपुर ८ जून ;अभी तक;  पश्चिम  बंगाल में चुनाव परिणामों के बाद हो रही हिंसा को रोकने हेतु महामहिम राष्ट्रपति जी के नाम बुद्धजीवी एवं जागरूक नागरिकों ने   कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह के माध्यम से  ज्ञापन सौंपा | ज्ञापन में मांग की गई है  कि राष्ट्रपति बंगाल के शासन, प्रशासन को तत्काल राजनैतिक हिंसा रोकने हेतु निर्देशित करें एवं  शांति एवं सद्भाव की स्थापना सुनिश्चित करें।
 
ज्ञापन में लेख किया गया है  कि चुनाव उपरांत बंगाल में हो रहे हिंसा के पीछे केवल राजनैतिक पक्ष  विपक्ष  ही एक मात्र कारण नहीं है,|  हिंसक भीड़ द्वारा लगाये गये साम्प्रदायिक नारों से इन हमलों की प्रकृति एकदम स्पष्ट हो जाती है। जनसंख्या असंतुलन और जेहादी मानसिकता के कारण उपजी अलगाववादी मानसिकता व वृहद बांग्लादेश जैसी देश विरोधी सोच इसके मूल में स्पष्ट दिखाई देती है। बांग्लादेशी घुसपैठियों व रोहिंग्या शरणार्थियों की सक्रियता खतरनाक भविष्य की ओर संकेत कर रहे हैं।
 
देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी राज्य के राज्यपाल को स्वयं जनता के बीच जाकर उनकी पीड़ा सुनने की आवश्यकता पड़ी हो। यही नहीं राज्यपाल को ही स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के असहयोग व रोकटोक का सामना करना पड़ा हो।  
 
ज्ञापन में स्पष्ट किया गया है कि भारत  विश्व का  सबसे बड़ा  लोकतांत्रिक देश है |  भारत में स्वतंत्रता के पूर्व से ही निर्वाचन से  जनप्रतिनिधियों तथा सरकारों का चयन होता रहा है। राजनैतिक मतभेद,आरोप प्रत्यारोपित,रैलियां,सभाएं सब एक स्वस्थ परंपरा के अनुरूप ही  रही हैं। विगत 70 वर्षों में केन्द्र से लेकर राज्य,ग्राम पंचायतों तक के चुनाव कुछ अपवादों को छोडक़र शांतिपूर्ण ही रहे हैं। लेकिन वर्तमान परिपे्रक्ष्य में पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान तथा उपरांत हुई हिंसा ने पिछले सभी प्रतिमानों को नष्ट  करते हुए एक भयावह रूप ग्रहण कर लिया है।

ज्ञापन के माध्यम से राष्ट्रपति से अनुरोध किया गया  है कि आप  राज्यपाल को निर्देशित करें कि वह अपने संवैधानिक अधिकार का  उपयोग करें और  प्रदेश सरकार को निर्देशित करें कि वह हिंसा के दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही करें,|   प्रभावित लोगों को शीघ्र न्याय दिलाने के कार्य के साथ उचित मुआवजे की भी व्यवस्था करें। साथ ही घटनाओं के पीछे लगी षडय़ंतकारी शक्तियों,संगठनों तथा व्यक्तियों की पहचान कर उन पर प्रकरण दर्ज किये जायें ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो इस हेतु शीघ्र कठोर कदम उठाएं। 

जिले के बुद्धिजीवी व जागरूक नागरिकों के हस्ताक्षर किये हुए इस  ज्ञापन को महंत जीतेन्द्र दास जी महाराज, सरदार बलजिन्दर सिंह एडवोकेट,बादल मुखर्जी ने जिला कलेक्टर को सौंपा।
रवीन्द्र व्यास