पांच दिन तक बंधक बनाकर युवती से दुष्कर्म, बेसुध मिली, अस्पताल में कराया भर्ती

मयंक भार्गव बेतूल से

बैतूल ११ नवंबर ;अभी तक; बैतूल में एक युवती को बंधक बनाकर उसके साथ पांच दिनों तक दुष्कर्म किए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोपी युवक ने पीड़िता का मोबाइल छीन लिया था और ताला बंद करके उसे कमरे में कैद रखा। पीड़िता पुलिस को बेसुध अवस्था में मिली। शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

बैतूल बाजार टीआई एबी मर्सकोले ने बताया कि बैतूलबाजार थाना क्षेत्र के एक गांव की 20 वर्षीय युवती को ढाेंढवाड़ा निवासी पवनराज फुहारे दो नवंबर को शादी का झांसा देकर अपने दोस्त के टिकारी स्थित किराए के मकान में ले गया। यहां पर उसे दुराचार का शिकार बनाया। दूसरे दिन जब युवती ने घर जाने के लिए कहा तो उसे जान से मारने की धमकी देकर माेबाइल छीन लिया और कमरे में ताला बंद कर दिया गया। सात नवंबर तक युवती को कमरे में बंधक बनाकर लगातार दुराचार का शिकार बनाने के बाद जब उसने छोड़ देने की मिन्नतें की तो आरोपी पवन ने योजनाबद्ध तरीके से उसे जान से मारने की धमकी दी और कहा कि बस में बिठाकर शाहपुर बस स्टैंड पर छोड़ दूंगा। यहां से सीधे शाहपुर थाना पहुंच जाना और पुलिस को यह बता देना कि वह घर से कहीं चली गई थी । 7 नवंबर को आरोपी ने उसे शाहपुर बस स्टैंड पर छोड़ा और युवती शाहपुर थाना पहुंच गई।

बैतूलबाजार थाना क्षेत्र की निवासी होने पर पुलिस ने थाना में सूचना दी। पुलिस ने गुमशुदगी के मामलों की पड़ताल की तो 3 नवंबर को ही 20 वर्षीय युवती के गायब होने की परिजनों ने सूचना दी थी जिस पर गुमशुदगी दर्ज की गई थी।बैतूलबाजार पुलिस ने शाहपुर पहुंचकर युवती को अपने साथ थाना लाया। वह बेसुध अवस्था में थी और कुछ बोल भी नहीं पा रही थी। इस पर तत्काल ही जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।दो दिन बाद उसकी हालत में सुधार होने पर नौ नवंबर को पुलिस ने बयान दर्ज कर आरोपी पवन राज के खिलाफ धारा 376, 343, 506 के तहत मामला दर्ज किया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह बैतूल में जूते-चप्पल की दुकान पर काम करता है । बैतूल बाजार टीआई एबी मर्सकोले ने बताया कि शादी का झांसा देकर आरोपी पीड़िता को अपने दोस्त के किराए के मकान में ले गया। यहां पर उसे दुराचार का शिकार बनाया। दूसरे दिन जब युवती ने घर जाने के लिए कहा तो उसे जान से मारने की धमकी देकर माेबाइल छीन लिया और कमरे में ताला बंद कर दिया। सात नवंबर तक युवती को कमरे में बंधक बनाकर लगातार दुराचार का शिकार बनाने के बाद जब उसने छोड़ देने की मिन्नतें की तो आरोपित पवन ने योजनाबद्ध तरीके से उसे जान से मारने की धमकी दी और बस में बिठाकर शाहपुर बस स्टैंड पर छोड़ दिया।