पांच दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय वन मेला में मंड़ला के उत्पादों की धूम, स्टॉल धारियों ने 1.5 करोड  के उत्पादों का किया  विक्रय

10:05 pm or December 30, 2021
नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला  29 दिसबंर ;अभी तक;  नेशनल  ट्राइबल ट्रेडिशनल हीलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया और टाटा स्टील रूरल डेवलपमेंट सोसाइटी के आठ सदस्यीय टीम ने पांच दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय वन मेला में लघु धान्य, लघु वनोपजों, औषधीय पौधों के प्रसंस्कृत उत्पादों और खाद्य पदार्थों को प्रदर्शित करने के साथ क्रेता-विक्रेता सम्मेलन, नि:शुल्क चिकित्सा शिविर और अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला में सहभागिता की। भोपाल में आयोजित पांच दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय वन मेला का आयोजन मध्यप्रदेश राज्य लघु वनोपज (व्यापार एवं विकास) सहकारी संघ ने वन विभाग, मध्यप्रदेश शासन, यूएनडीपी और आईआईएफएम के सहयोग से किया।

                         अंतर्राष्ट्रीय वन मेला में पांच दिन तक नेशनल ट्राइबल ट्रेडिशनल हीलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने तीन  स्टॉल में लघु धान्य-कोदो, कुटकी, बाजरा और मक्का,विभिन्न लघु वनोपजों, औषधीय पौधों के प्रसंस्कृत उत्पादों और खाद्य पदार्थों को प्रदर्शित किया।मध्यप्रदेश शासन के वन मंत्री डॉ. विजय शाह, मध्यप्रदेश राज्य लघु वनोपज(व्यापार एवं विकास) सहकारी संघ के प्रबंध संचालक श्री पुष्कर सिंह एवं अन्य अधिकारियों ने स्टॉल का अवलोकन कर उत्पादों की मुक्तकंठ से प्रशंसा की।    टाटा स्टील के रुथ केरकेट्टा और रोहित मिंज के मार्गदर्शन में मध्यप्रदेश से मंड़ला के लता सैयाम, गजेंद्र गुप्ता, एचडी गांधी और निशार कुरैशी, राजस्थान के उदयपुर से अजय धाकड और योगेश कुमार ने उत्पादों को प्रर्दशित किया। पांच दिन में स्टॉल में पचास हजार से अधिक लोगों ने स्टॉल का अवलोकन किया। एक जिला-एक उत्पाद अंर्तगत मंड़ला जिले के उत्पाद कोदो-कुटकी, मंड़ला के किसानों के द्वारा तैयार मसाला गुड और महिला उद्यमियों द्वारा तैयार कच्ची हल्दी के आचार ने सबको आर्कषित किया। पांच दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय वन मेला में देश भर से आए स्टॉल धारियों ने 1.5 करोड रु. के उत्पादों का विक्रय किया। नेशनल ट्राइबल ट्रेडिशनल हीलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया को स्टॉल का शुल्क टाटा स्टील रूरल डेवलपमेंट सोसाइटी ने प्रायोजित किया था।
हुआ क्रेता, विक्रेता सम्मेलन :
                           लघु वनोपजों, औषधीय पौधों, प्रसंस्कृत उत्पादों के आपसी क्रय-विक्रय के लिए क्रेता-विक्रेता सम्मेलन आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में  देश भर से आए क्रेता-विक्रेता के बीच 13 करोड रूपए का करार हुआ। नेशनल  ट्राइबल ट्रेडिशनल हीलर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया की ओर से एचडी गांधी ने सहभागिता की।
नि:शुल्क चिकित्सीय परामर्श की दी सेवाएं :
आयोजन स्थल पर भारतीय चिकित्सा पद्धति संचालनालय एवं मध्यप्रदेश राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ के संयुक्त तत्वावधान में चार दिवसीय नि:शुल्क चिकित्सा शिविर आयोजित किया गया था। इस शिविर में मंड़ला से गजेंद्र गुप्ता और एचडी गांधी द्वारा नि:शुल्क चिकित्सीय परामर्श सेवाएं प्रदान की गई। गजेंद्र गुप्ता और एचडी गांधी को नि:शुल्क चिकित्सीय परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।
लघु वनोपज से स्वास्थ्य सुरक्षा विषय पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला :
अंतर्राष्ट्रीय वन मेला के सभागार में वन विभाग, मध्यप्रदेश शासन और मध्यप्रदेश राज्य लघु वनोपज सहकारी संघ के द्वारा लघु वनोपज से स्वास्थ्य सुरक्षा विषय पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। यूएनडीपी अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला का नॉलेज पार्टनर और आयोजन सहयोगी आईआईएफएम रहा। मंड़ला से गजेंद्र गुप्ता और एचडी गांधी ने अंतर्राष्ट्रीय कार्यशाला में सक्रिय सहभागिता की।