पाण्डवफाल बस हादसा मामले में बस चालक व मालिक को हुई 10-10  वर्ष की कठोर कारावास व जुर्माना से दंडित किया गया

10:12 pm or December 30, 2021
पन्ना संवाददाता
पन्ना ३० दिसंबर ;अभी तक; मध्यप्रदेश के पन्ना में बहुचर्चित पाण्डवफाल बस हादसे  में आज कोर्ट का बड़ा फेशला आया है। 04 मई 2015 को बस पलटकर जलने के मामले में बस चालक व बस मालिक को 10-10  वर्ष की कठोर कारावास व जुर्माना से दंडित किया गया है।
           इस बहुचर्चित बस हादसे में 21 लोग बस से बाहर नही निकल पाए थे और आग से जिंदा जल गये थे।इस हृदय विदारक हादसे से प्रदेश में सनसनी फैल गयी थी।इस हादसे के बाद मोटरयान अधियाम के तहत प्रदेश भर में बसों की जांच शुरू हुई थी।
              इस संबंध में कपिल व्यास लोक अभियोजन अधिकार पन्ना ने जानकारी देते हुए बताया कि यह हादसा तब हुआ था जब बस छतरपुर से पन्ना की ओर आ रही थी।तभी मडला थाना क्षेत्र के पाण्डवफाल के पास अनियंत्रित होकर पलट गई और उसमें आग लग गयी थी।जिससे बस में सवार 21 लोग जिंदा जल गए थे। इस बस में आपातकालीन गेट की जगह लोहे की रॉड लगाकर सीट को फिट कर दिया गया था जिससे आपात कालीन दरवाजा नही खुल सका था।जिससे बस में बैठे 21 लोगों की आग में झुलसने से मौत हो गयी थी।जिसमे माहिलाये एवं बच्चे भी शामिल थे।
                 माननीय न्यायालय द्वारा अभिलेख पर आई साक्ष्यों, अभियोजन के तर्को तथा न्यायिक-दृष्टांतो से सहमत होते हुए अभियुक्तो को समसुददीन मुसलमान उर्फ जगदम्बे पुत्र मोहम्मद कमरूददीन मुसलमान, आयु-47 वर्ष चालक ग्राम- रहिकवारा, थाना-नागौद, ज्ञानेन्द्र पाण्डेय पिता संत प्रसाद पाण्डेय, उम्र-53 वर्ष, (बस मालिक), निवासी-झिंगोदर जिला सतना बस चालक को धारा 304 (भाग दो) मे दस-दस वर्ष का कारावास की सजा दी गई है।