पिछले साल की छात्रवृत्ति के लिये अभी तक भटक रहे है छात्र

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १३ सितम्बर ;अभी तक;  भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन मंदसौर (एनएसयूआई) के जिलाध्यक्ष सुनील बसेर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मण्डल ने जिला कलेक्टर के नाम तहसीलदार श्री प्रेमशंकर पटेल को  ज्ञापन देकर वर्ष 2020-21 में अध्ययनरत अ.जा./अ.ज.जा./पिछड़ा वर्ग के छात्रों को पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति प्रदान करने की मांग की गई।
                    जिलाध्यक्ष श्री बसेर ने बताया कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के सत्र 2020-21 में जो छात्र अध्ययनरत थे उनकी पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति आज दिनांक तक उनके खाते में नहीं आई। जबकि 2020-21 सत्र पूर्ण हो चुका है और छात्रों ने नए कोर्स में प्रवेश ले लिए हैं लेकिन पूर्व कक्षा की छात्रवृत्ति न आने के कारण नवीन पाठ्यक्रम की फीस भरने में समस्याएं आ रही हैं। चूंकि पिछले 2 वर्षों से कोरोना काल के कारण भी विद्यार्थि व उनके परिजन  आर्थिक समस्या से जूझ रहे है। छात्रवृति पोर्टल पर चेक करने पर कई छात्रों की छात्रवृत्ति स्वीकृत बता रखी है लेकिन उनके खाते में नहीं आई। साथ ही तकनीकी समस्याओं के कारण भी छात्रों को लगातार आदिम जाति कल्याण विभाग के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं और विभाग द्वारा हमेशा यह बोल दिया जाता है कि अभी समस्या का निराकरण करने वाला कोई नहीं है, बाद में आना। एनएसयूआई ने ज्ञापन में मांग की कि सत्र 2020-21 में अध्ययनरत सभी छात्रों की पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति स्वीकृत कर, छात्रों के बैंक खाते में जल्द ट्रांसफर की जाए।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष सुनील बसेर, सम्यक जैन चौधरी, श्रीद पाण्डे, हरीश पाटीदार, जीवन व्यास, आशिष सौलंकी, क्षितिज चौहान, राहुल सूर्यवंशी, संजय प्रजापति उपस्थित थे।