पिजरे मे कैद  तेदुआ होगा ओंकारेश्वर के जंगलों के हवाले

मयंक शर्मा

खंडवा २२ मार्च ;अभी तक;  सोमवार सुबह बड़वानी जिले के ग्राम े बेहड़िया के    खेत में रखे पिेंजरे में तेंदुआ कैद हो गया। सोमवार को कैद तेदुये का परीक्षण पशु चिकित्सक शिवाजी किराडे़ ने किया। उन्होने बताया कि तेदुआ 5 साल का उम्रदारज होकर मादा है। वन विभाग ने पिंजरे सहित तेदुआ को  फिलहाल पानसेमल पहुंचाया है। वन विभाग कई दिनो से लोगों में फेले दहशत के माहौल के बाद उसे विभागकमी कैद करने की फिराक में था। पिछले साल सितंबर में एक महिला व अगस्त में एक बच्ची तेंदुए का शिकार होकर जान गवां चुकी है।

                            सोमवार को  मिली इस कामयाबी के बाद खंडवा वन वृत के संरक्षक एमआर बघेल ने तेदुआ कैद होने की पुष्टि की है। उन्होने  कहा कि इसे नर्मदा तट की जिले की तीर्थनगरी ओंकारेश्वर के जंगलों में छोड़ा जाएगा।कोई 5 साल के उम्रदराज मादा  अब तक खंडवा वन वृत में पकडा गया यह तेरहंवा तेंदुआ  है। उन्होने बताया पडौसी राज्य  महाराष्ट्र के तोरणमाल जंगल से वन वृत का क्षेत्र सटा होने , इसलिए अक्सर तेंदुए यहां भोजन व शिकार के लिए घूमते हुये मप्र की सरहद में ध्ुास आते हैै।
गांव बेहड़िया के खेत में काम रहे किसान व मजदूरों को एक  सप्ताह पहले तेंदुए को देखे जाने के बाद  ग्रामीण दहशत में े थे।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *