पुलिस अधिकारी के साथ मारपीट करने पर न्यायालय ने भेजा जेल

प्रेम वर्मा

राजगढ़ 8 सितम्बर :अभी तक: जिले के खिलचीपुर के न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी ने थाना खिलचीपुर के अपराध धारा 353, 332, 34 भादवि में आरोपी मांगीलाल तंवर निवासी ग्राम हरिपुरा की जमानत अर्जी खारिज कर दी है।

सहायक जिला अभियोजन अधिकारी मथुरालाल ग्वाल ने बताया कि फरियादी ने थाना खिलचीपुर आकर रिपोर्ट की कि वह थाना खिलचीपुर में उप निरीक्षक के पद पर पदस्थ है। वह 24 अगस्त 2020 को मर्ग जांच में शासकीय अस्पताल खिलचीपुर पहुच कर मर्ग जांच कर रहा था। जब फरियादी आरक्षक को साथ लेकर कस्बा में भ्रगण करता हुआ शाम को बस स्टेण्ड पहुचा तो ट्राफिक जाम हो रहा था । फरियादी ने थाने से पुलिस फोर्स को फोन करके बुलाया था। इसी दौरान मागीलाल निवासी हरिपुरा पीकप वाहन को रोड पर आड़ी करके बैठा था । जब फरियादी ने अपने साथी पुलिस वालो के साथ उसको कहा कि यहां से पीकप हटाये तो वहां आरोपी फरियादी उप निरीक्षक से अनावश्यक विवाट कर झूमा झटकी करने लगे और मांगीलाल के साथी ने पत्थर उठाकर मारा जो फरियादी के गाल पर लगा जिससे खून निकानने लगा था। फरियादी वहीं गिर पडा था। जब साथी पुलिस वाले उन दोनो को पकडने दोडे तो दोनो पीकप लेकर भाग गये थे। आरोपी को 353, 332, 34 भादवि तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया था जहां से उसे जेल भेज दिया गया था।उक्त प्रकरण में आरोपी मांगीलाल ने न्यायालय को अपना जमानत आवेदन पत्र प्रस्तुत कर जमानत की मांग की थी।

राज्य की ओर से सहायक जिला लोक अधियोजन अधिकारी मथुरालाल ग्वाल ने पैरवी करते हुए न्यायालय के समक्ष तर्क किया कि आरोपी द्वारा पुलिस अधिकारी के साथ मारपीट कर एक गंभीर अपराध कारित किया गया है। यदि आरोपी को जमानत पर रिहा किया गया तो निश्चित ही न्याय के विपरीत प्रभाव पड़ेगा। इस कारण आरोपी को जमानत पर रिहा न किया जावे।

अभियोजन के तर्कों और अभियोजन कहानी से सहमत होते हुए अभियुक्त मांगीलाल का जमानत आवेदन खारिज कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *