पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने बच्चों को पढ़ाया जीवन कौशल और अनुशासन का पाठ

भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा
भिंड ३० मई ;अभी तक; बच्चों  जिस कक्षा में हो उतने ही घंटे करो पढ़ाई मिलेगी वांछित सफलता, भिंड केशव स्मृति सेवा न्याय द्वारा आयोजित बाल विमर्श के चौथे दिन बतौर मुख्य अतिथि एसपी मनोज कुमार सिंह ने बच्चों को बताया कि वह जिस क्लास में हैं उतने ही घंटे समर्पण भाव से पढ़ाई करें निश्चित रूप से सफलता मिलेगी शनिवार को कार्यक्रम की अध्यक्षता सुरेंद्र सिंह सोलंकी ने की अतिथि परिचय कार्यक्रम संयोजक मनीष ओझा ने कराया
                      एसपी ने गूगल मीट के माध्यम से जुड़े बच्चों से कहा आपके बड़े कोई सड़क पार करते हैं तो उन्हें अवश्य रुप है जैसे कि अगर पापा बिना हेलमेट के निकलते हैं या तंबाकू खाते हैं तो उन्हें आप को रोकना चाहिए बिना मास्क के व्यक्ति के मिलने पर उसे टोक
 बच्चों ने ऐसे किए सवाल
               अभिनव ने कहा कि पुलिस का अभियान सड़कों पर तो होता है लेकिन गलियों में नहीं इस पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पूरे जिले की 20 लाख की जनसंख्या है और हमारे पास केवल 400 पुलिसकर्मी हैं ऐसे में हमें उन्हीं से काम चलाना पड़ता है लेकिन पुलिस की नजर गलियों पर भी रहती है एक छात्र ने सवाल कर दिया कि सिंध नदी में पनडुब्बियों से अवैध रेत उत्खनन किया जा रहा है इसके जवाब में पुलिस कप्तान ने कहा कि वैसे तो इसे रोकने का कार्य माइनिंग विभाग का है रेत के खनन से सरकार को राजस्व प्राप्त होता है सरकार को अपनी रणनीति में परिवर्तन करना चाहिए अंशुमान नामक एक छात्र ने कहा कि बाल अपराध कैसे रोके जाएं और सब बच्चे अपराध करने वालों से कैसे बचें इस पर उन्होंने कहा कि बच्चों को सदैव अलर्ट मोड़ में रहना चाहिए यदि आप चौकाने और सावधान रहेंगे तो आपको कोई परेशानी नहीं कर पाएगा ।
               बाल विमर्श कार्यक्रम के अंत में पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह को जुड़वा बेटियां नव्या और भव्य भी बच्चों से जुड़ी उन्होंने लड़ने चली हु में आजादी की जंग गीत बच्चों को सुनाया जिसे सुन बच्चों ने हौसला अफजाई की यह गीत का का प्रभा व और गीत के भाव और इस गीत गाने का का तरीका बहुत ही अच्छा लगा सभी लोगों को और जमकर तारीफ हुई पुलिस अधीक्षक महोदय की दोनों जुड़वा बेटियों की हालांकि यह दोनों बेटियां हर पर्व और त्योहार पर विशेषकर राष्ट्रीय पर्व पर बहुत ही अच्छा संदेश आम जनता को सोशल मीडिया के माध्यम से मीडिया के लोगों से अच्छा देख प्रेम करती हैं और बिना शरमाए अपनी बात फुल कर करती हैं मैंने भी स्वयं इन दोनों बालिकाओं के हुनर को देखकर जंग रह जाता हूं इन जुड़वा दोनों बेटियां पुलिस अधीक्षक महोदय की तो हैं परंतु उनसे ज्यादा मीडिया उन्हें जमकर प्यार करता है इन दोनों बालिकाओं पर हमें गर्व महसूस करना चाहिए और इन बालिकाओं से कुछ सीखने को ही मिलता है यह ईश्वरी शक्ति होती है क्योंकि ईश्वर शक्ति मां सरस्वती की कृपा इन लोगों पर है और बनी रहेगी