पुलिस ने बचाई प्रतिष्ठा ; थाने से फरार अपहरण, गैंगरेप और हत्या का दूसरा आरोपी भी गिरफ्तार

अरुण त्रिपाठी

रतलाम,9 सितम्बर ९ सितम्बर ;अभी तक;  बिलपांक पुलिस की हिरासत से भागे अपहरण, गैंगरेप और हत्या के दूसरे आरोपी को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया है।

एसपी गौरव तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि थाना बिलपांक के पाक्सो एक्ट तथा गैगरेप और हत्या के मामले में दो आरोपी 07.09.20 पुलिस अभिरक्षा से भाग निकले थे। उक्त फरार आरोपियों में से आरोपी रवि उर्फ गुंगा पिता रामसिंह निनामा उम्र 20 साल निवासी गुजरपाड़ा को दिनांक 08.09.20 को ग्राम बदनारा के जंगल से विभिन्न पुलिस टीमो व स्थानीय गांव वालों की मदद से पकड़ा गया।

दूसरे आरोपी दीपक उर्फ दीपला पिता नाहर निनामा जाति भील उम्र 20 साल निवासी ग्राम गुजरपाड़ा को आज को भाटी बड़ोदिया के पास गांव धोलका से विभिन्न पुलिस टीमो व स्थानीय गांव वालों की मदद से पकड़ा गया।
इन फरार आरोपियों की सूचना देने और गिरफ्तारी करने पर मंगलवार को 10-10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था। इसके बाद एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया था।

श्री तिवारी ने बताया कि पुलिस थाना बिलपांक के अपराध क्रमांक 447/20, धारा 363, 376DA, 302, 201 भादवि व 5/6 पाक्सो एक्ट मे गैगरेप और हत्या के मामले में आरोपियों कालू निनामा,दिपला उर्फ दीपक नाहर और रवि निनामा को गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद शाम को जिला चिकित्सालय में आरोपियों के डीएनए सैम्पल्स लिए गए थे। इसके बाद उन्हे पुलिस अभिरक्षा में शेष पूछताछ के लिए जीप में बिलपांक थाने ले जाया गया। थाना परिसर में जीप से आरोपियों को उतारे जाने के दौरान दो आरोपी चकमा देकर भाग निकले।

उन्होंने बताया कि उक्त फरार आरोपियों में से 1. रवि उर्फ गुंगा पिता रामसिंह निनामा जाति भील उम्र 20 साल निवासी गुजरपाड़ा जो गुंगा है बोल नही सकता है और जिसका कद छोटा रंग सांवला, दाहिने हाथ पर दिल व सूरज बना है । उसे पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि आरोपी दीपक उर्फ दीपला पिता नाहर निनामा जाति भील उम्र 20 साल निवासी ग्राम गुजरपाड़ा, जिसका कद छोटा, रंग सावला तथा सीने पर बंशी व मोर बना है। उसे बुधवार को पकड़ा गया।

गौरतलब है कि पुलिस ने रविवार सुबह जिले के बिलपांक थाना क्षेत्र के एक खेत में नाबालिग बच्ची का शव मिलने के मामले का सोमवार को खुलासा कर इस जघन्य वारदात को अंजाम देने वाले तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में आरोपियों ने बालिका का अपहरण कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म और बाद में तालाब में डुबो-डुबो कर हत्या करने की बात स्वीकार की थी। एसपी द्वारा उक्त मामले को जघन्य और सनसनीखेज अपराध के रूप में चिन्हित करने की जानकारी दी गई थी। इसके बाद रात में दो आरोपी के भाग जाने से पुलिस की नींद उड़ गई थी। दो दिन और रात की मशक्कत के बाद दोनों आरोपी के पकड़े जाने पर पुलिस ने राहत की सांस ली है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *