पूरक परिक्षा केन्द्रो पर नही हो रहे है कोविड 19 के नियमो का पालन-श्री जैन

महावीर अग्रवाल

मंदसौर १६ सितम्बर ;अभी तक;  मध्यप्रदेश में लोकतांत्रिक मूल्यो का हनन कर आयी शिवराजसिंह और महाराज की सरकार एवं उनका प्रशासन कोविड 19 से निपटने में नाकाम साबित हुआ है। पुरे प्रदेश में तेजी से महामारी को फैलने से रोकने के साथ ही आम नागरिको को इससे बचाने के लिये शासन से लेकर प्रशासन सभी विफल साबित हो रहे है। वर्तमान में विधालयो में जारी पूरक परिक्षाओं के दौरान शिक्षा विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा विधार्थियो की थर्मल स्केनिंग के साथ ही अन्य प्रकार से जांच के नियमो का पालन नही किया जा रहा है जिसके कारण निश्चित रूप से विद्यार्थियो में कोविड फैलने का खतरा बढ गया है।

यह बात शहर ब्लाॅक कांग्रेस आईटी सेल अध्यक्ष श्री कमलेश जैन ने कही। उन्होनें कहा कि वर्तमान में हायर सेकेण्डरी एवं हाईस्कूल के विद्यार्थियो की पूरक परिक्षाओ का आयोजन जिला शिक्षा केन्द्र द्वारा किया जा रहा है। इस केन्द्रो पर परिक्षा हेतु उपस्थित विद्यार्थियो का प्रार्थमिक स्वास्थ्य परिक्षण जिसमें थर्मल स्केनिग, सेनेटाईजर आदी मूलभूत व्यवस्थाओं को दरकिनार कर प्रवेश मिल रहा है।
श्री जैन ने कहा कि शिक्षा विभाग एवं जिला स्वास्थ्य विभाग की घोर लापरवाही के चलते जो हालात एवं परिस्थितियां परिक्षा केन्द्रो पर है उसके कारण संक्रमित विद्यार्थियो के प्रवेश से अन्य विद्यार्थियो में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ गया है। विद्यार्थी जिनकी उम्र 12 से लेकर 18 वर्ष के बीच है वर्तमान में कोरोना के खतरे के प्रति इतने सजग नही है जिसके चलते कोरोना का खतरा बढ गया है लेकिन अफसोस की जिम्मेदार अधिकारीगण अपने दायित्वो का पालन ईमानदारी से नही कर रहे है।
श्री जैन ने कलेक्टर श्री मनोज पुष्प को परिक्षा केन्द्रो के हालात एवं कोविड नियमो के उल्लंघन की जानकारी देते हुये इस संबंध मे जिला शिक्षा विभाग पर कार्यवाही करने एवं नियमो का आगामी परिक्षा पत्रो के दौरान पालन करवाये जाने का आग्रह किया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *