पूर्व निगम आयुक्त अमर सत्य गुप्ता पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज

देवेश शर्मा

मुरैना 18 नबंवर ;अभी तक; कोतवाली पुलिस ने कल  मुरैना नगर निगम के पूर्व निगम आयुक्त अमर सत्य गुप्ता सहित 6 लोगों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है। यह माम्नला एक विधवा महिला का फ़र्जी विवाह का प्रमाण पत्र बनाने के आरोप में दर्ज किया गया है।

प्रभारी नगर पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह के अनुसार आगरा निवासी प्रेमलता वेवा अंकित शर्मा ने यह शिकायत दर्ज कराई थी कि उसके नाम से फर्जी विवाह प्रमाण पत्र नगर निगम द्वारा बनाया गया है।  जिस पर से कोतवाली पुलिस ने इस मामले की छानबीन की और जांच में पाया कि वाकई में उक्त महिला का फर्जी विवाह प्रमाण पत्र बनाया गया है जिस पर से पुलिस ने इसमें शामिल 6 लोगों पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

उन्होंने बताया कि प्रेमलता के द्वारा की गई शिकायत के अनुसार उसके फर्जी विवाह प्रमाण पत्र बनाने में निगम के कर्मचारी टिल्लू उर्फ सतेन्द्र शर्मा ने पूरा सहयोग किया है और अपने पद का दुरूपयोग करते हुये उसका दूसरा विवाह सुंदर सिंह के नाम से किया जाना प्रमाणित किया है जबकि सुंदर सिंह ने पुलिस को बताया कि वह पहले से ही शादीशुदा है और प्रेमलता नामक किसी भी महिला से विवाह नहीं किया है। उन्होंने बताया कि प्रेमलता को जब इस मामले की जानकारी मिली तो उसने 30 अगस्त 2019 को इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक से की थी।

पुलिस अधीक्षक ने इस मामले की जांच सीएसपी को सौंपी थी। पुलिस ने उक्त मामले की गहनता से जांच पडताल की और 50 पेज से ज्यादा का जांच प्रतिवेदन उक्त शिकायत के आधार पर बनाया गया।उन्होंने बताया कि फर्जी विवाह प्रमाण पत्र बनाने को लेकर धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है उनमें नगर निगम के पूर्व आयुक्त अमर सत्य गुप्ता जो कि वर्तमान में सहायक आयुक्त निगम निगम ग्वालियर में पदस्थ हैं, सतेन्द्र शर्मा पुत्र जगदीश शर्मा निवासी भरोसी की धर्मशाला दत्तपुरा मुरैना, राजा शर्मा पुत्र स्व. महेश चन्द्र शर्मा निवासी लखनऊ, महावीर प्रसाद पचौरी एडवोकेट मिल एरिया रोड मुरैना, सूरज सिंह तोमर लिपिक नगर निगम मुरैना व नरेश निगम जल प्रदाय शाखा नगर निगम मुरैना शामिल हैं। उन्होंने बताया कि उक्त प्रकरण में विवेचना शुरू करदी है।आरोपियों की गिरफ्तारी भी की जावेगी।