पूर्व मंत्री सुभाष सोजतिया की माताजी का निधन

9:04 pm or October 23, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर  २३ अक्टूबर ;अभी तक;  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री सुभाषकुमार सोजतिया की माताजी धैर्यप्रभादेवी सोजतिया (धायजी) का रविवार को 92 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। 20 अक्टूबर 1930 को उनका जन्म हुआ था, यानि 3 दिन पहले ही उन्होंने 92 वर्ष पूरे किए थे। पिछले कुछ दिनों से उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था और उपचार चल रहा था, इंदौर के सीएचएल अपोलो हॉस्पिटल में देर शाम उन्होंने अंतिम सांस ली। अपने पीछे वे भरा-पूरा परिवार छोड़ गई हैं।
                              भानपुरा नप के पूर्व अध्यक्ष एवं ख्यात चिकित्सक स्व. रावतमल सोजतिया की धर्मपत्नी धैर्यप्रभादेवी सोजतिया ने पिछले साल ही कोविड जैसी घातक बीमारी को मात दी थी और वे स्वस्थ होकर घर पहुंची थी। कोविड की पहली लहर में जब लॉकडाउन लगा तो उस वक्त सैकड़ों लोग भटक रहे थे, गरोठ-भानपुरा के कस्बों में हजारों लोगों को भोजन सामग्री उपलब्ध नहीं हो पा रही थी तो उनके लिए स्व. श्रीमती सोजतिया ने अपने पारिवारिक ट्रस्ट के जरिए राहत सामग्री घर-घर तक पहुंचाने का जिम्मे लिया था। अपने पुत्र सुभाष (पूर्व मंत्री) के जरिए भोजन सामग्री व पैकेट पंचायतों तक पहुंचाए गए थे। यह काम निरंतर चलाया।
                          इसके अलावा सिविल अस्पताल से मंदसौर जिला अस्पताल तक रोगियों को रैफर करने के लिए अपनी ओर से एंबुलेंस भी भेंट की थी, जिससे कई मरीजों की जान बचाई जा सकी थी। पति स्व. रावतमल सोजतिया जब राजनीति में थे और चिकित्सकीय पेशे में थे तो धायजी (क्षेत्र की जनता स्नेह से यह नाम पुकारती) ने घर-परिवार की जिम्मेदारी बखूबी संभाली और परिवार की हर पीढ़ी तक संस्कार व शिक्षा पहुंचाने पर बल दिया। इंदौर में देर शाम उन्होंने अंतिम सांस ली, पूर्व मंत्री सोजतिया ने देर शाम निधन की जानकारी सोशल मीडिया के जरिए दी, उन्होंने लिखा परमपूज्य माता जी धायजी हमारे बीच नही रहे! ईश्वर पुण्यात्मा को अपने श्री चरणो मे स्थान दें! ऊॅ शांति। सादर चरण नमन। धायजी के निधन की सूचना मिलते ही गरोठ-भानपुरा समेत मंदसौर व आसपास इलाकों में शोक की लहर छा गई। बड़ी संख्या में लोगों ने शोक संवेदना व्यक्त की।