पेंशनरों को  महंगाई राहत के आदेश नहीं दिया जाना पेंशनरों के हितों पर कुठाराघात-प्रहलाद सोनी

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर ९ नवंबर ;अभी तक;  मध्यप्रदेश बिजली कर्मचारी पेंशनर महासंघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष प्रहलाद सोनी ने यह जानकारी प्रदान की गई है कि प्रदेश सरकार द्वारा मध्यप्रदेश शासन के कर्मचारियों के लिये 8 प्रतिशत की दर से माह जुलाई 2019 से महंगाई की घोषणा कर राशि प्रदान की जा चुकी है। लेकिन बड़े खेद की बात है कि पेंशनर को आज दिनांक तक 8 प्रतिशत की दर से महंगाई राहत के आदेश नहीं किया जाना पेंशनरों के हितों पर कुठाराघात करने जैसा है, इससे पेंशनरों में असंतोष व्याप्त हुआ है।
                  श्री सोनी साथ ही कहा कि जहां केन्द्र सरकार द्वारा केन्द्रीय कर्मचारियों एवं पेंशनरों के लिये 31 प्रतिशत के आदेश होने के बाद उनका भुगतान किया जा चुका है वहां प्रदेश शासन द्वारा माह जुलाई 2019 से बड़े हुए महंगाई के आदेश नहीं होना सोच का विषय है। इसी प्रकार मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ को पृथक हुए 20 वर्ष से अधिक का समय होने के बाद भी धारा 49 को अभी तक नहीं हटाया गया है। इस प्रकार पेश्ंानरों के राहत में प्रशासन द्वारा रोड़े अटकायें जा रहे है।
                    महासंघ के प्रांतीय उपाध्यक्ष प्रहलाद सोनी ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान से मांग की है कि वर्तमान में महंगाई के दौर में पेंशनरों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में पेंशनरों को जीवन व्यापन के लिये समय पर बढ़ाई जाने वाली महंगाई राशि के 31 प्रतिशत के आदेश यथाशीघ्र प्रदान करे।