पैंगोलिन की बिक्री के लिये गाहक की तलाश कर रहे 2 आरोपियों को वन विभाग के अमले ने अपनी हिरासत में लिया

1:14 pm or May 7, 2022

आनंद ताम्रकार

बालाघाट ७ मई ;अभी तक;  दक्षिण सामान्य वन मंडल बालाघाट के वारासिवनी वन परिक्षेत्र में संरक्षित वन्य प्राणी पैंगोलिन की बिक्री के लिये गाहक की तलाश कर रहे 2 आरोपियों को वन विभाग के अमले ने अपनी हिरासत में लिया है तथा उनके पास से एक जीवित पैंगोलिन मादा प्रजाति की बरामद की है जिसकी उम्र 9 वर्ष बताई गई है।

               वन परिक्षेत्र अधिकारी यशपाल मेहरा ने अवगत कराया की उन्हें मुखबिर के माध्यम से सूचना मिली थी की पकडे गये आरोपी प्रभु दयाल पिता बालचंद बिसेन 48 वर्ष निवासी ग्राम कोपे एवं मुकेश पिता भुराजी हनवत 38 वर्ष निवासी नेवरगाव ये दोनों दुर्लभ वन्य प्राणी पैंगोलिन को बेचने के लिये ग्राहक की तलाश करने सिवनी जा रहे थे । इस आधार पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर एक टीम गठित कर नकली ग्राहक बनकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

            यशपाल मेहरा ने बताया की ग्राहक बनकर 40 लाख रुपये में पैंगोलिन खरीदने का सौदा हुआ आरोपियों से हुई चर्चा के आधार पर सिवनी छपारा मार्ग में स्थित शुभ डाबा में लेनदेन तया हुआ था। गिरफ्त में आये आरोपियों से पूछताछ की जा रही है जिसमें इनके साथ शामिल अन्य लोगों को पता चलेगा।

यह उल्लेखनीय है की बालाघाट जिले के वनों में वन्य प्राणी पैंगोलिन बहुतायत में पाये जाते है जिनका शिकार कर शरीर के ऊपर लगे शल्क तथा उसके मांस की भारी मांग है जिसका उपयोग कामोत्तेजक औषधियां में किया जाता है।
विदेशों में इस मांस को बड़े चाव से खाया जाता है इस कारण इस जीव का शिकार बहुतायत में होने लगा है इस सिलसिले में वन विभाग ने अब तक अनेक आरोपियों को गिरफ्तार किया है जिनका संपर्क अंतर्राज्यीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होना पाया गया है।