पोरसा थाने में एक महिला एसआई सहित पांच निलंबित  

5:37 pm or June 6, 2022
देवेश शर्मा
मुरैना ।6 जून ;अभी तक;  जिले  के  पुलिस अधीक्षक  आशुतोष बागरी ने रविवार, सोमवार की दरम्यानी रात 2 बजे जिले के अंतरराज्यीय पोरसा थाने का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक वहां एक घंटे तक खड़े रहे, लेकिन वहाँ तैनात 5 पुलिस कर्मचारी बुलाने पर भी नहीं आये। पूछताछ में एक महिला एसआई सहित सात पुलिसकर्मी गैरहाजिर पाए गए।  पुलिस अधीक्षक श्री बागरी ने उन्हें तुरंत  प्रभाव से निलंबित कर दिया। वहीं दूसरी तरफ स्थितअंबाह थाने का पूरा स्टॉफ ड्यूटी पर अलर्ट मिला। पोरसा थाने का भी कुछ स्टॉफ अलर्ट मिला, जिन्हें पुलिस अधीक्षक ने 500 रुपए नगद इनाम राशि देकर सम्मानित किया।
                      आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि नगरीय निकाय व नगर पंचायत के चुनाव के मद्देनजर जिले के अंबाह व पोरसा में कानून व्यवस्था कितनी चुस्त दुरुस्त है। इसकी पड़ताल करने के लिए पुलिस अधीक्षक  आशुतोष बागरी ने बीती रात को पोरसा अम्बाह थाने का औचक निरीक्षण किया।
                 सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार इस दौरान पुलिस अधीक्षक पहले वे पोरसा थाने गए तो देखा कि वहां अधिकांश पुलिस स्टॉफ गायब था। जब पुलिस अधीक्षक ने गायब स्टॉफ को बुलाया तो महिला एसआई रितु भदौरिरिया, आरक्षक मुकेश राजावत, मुनेन्द्र सिंह, हीरा सिंह व उमेश शर्मा मौके पर नहीं पहुंचे। पुलिस अधीक्षक  आशुतोष बागरी वहां एक घंटे तक खड़े रहे, लेकिन ये पुलिसकर्मी जब नहीं पहुंचे तो पुलिस अधीक्षक ने तत्काल प्रभाव से उन्हें निलंबित कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ महिला आरक्षक प्रियंका दीक्षित पांच मिनट के अन्दर थाने पहुंच गई थीं। उन्हें एसपी ने 500 रुपए नगद इनाम से पुरुस्कृत किया है। इसी दौरान गश्त का जब पुलिस अधीक्षक ने निरीक्षण किया तो एएसआई कमलेश कुमार, आरक्षक गजेन्द्र लोधी, तहसीलदार सिंह, राहुल पटेल, रवि शंकर तथा पुष्पेन्द्र सिंह तत्परता से गश्त करते मिले। जिस पर एसपी ने उन्हें तुरंत नगद 500 रुपए इनाम देकर पुरुस्कृत किया है।
                विज्ञप्ति के अनुसार पुलिस अधीक्षक जब पोरसा थाने पहुंचे तो देखा कि थाने के शस्त्रागार की सुरक्षा एक होमगार्ड सैनिक से करवाई जा रही थी। इस घोर लापरवाही पर पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी रामपाल सिंह जादौन व एचसीएम से इस लापरवाही को लेकर स्पष्टीकरण मांगा है तथा स्पष्टीकरण देने के बाद उन्हें दण्डित करने के निर्देश भी दिये हैं।
                सरकारी विज्ञप्ति केअनुसार पुलिस अधीक्षक श्री बागरी जब रात तीन बजे जिले के एक दूसरे अंबाह थाने पहुंचे तो उन्होंने वहाँ भी तैनात सभी पुलिस कर्मियों को बुलाया तो वे सभी, कर्मचारी मौके पर उपस्थित हो गए थे। पुलिस अधीक्षक ने सभी को 100-100 रुपए नगद राशि देकर पुरुस्कृत किया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक ने जब अंबाह में गश्त चेक की तो गश्त के दौरान आरक्षक रामनरेश सिंह, लज्जाराम व सत्यराय मुस्तैदी से गश्त करते मिले। एसपी ने उन्हें मौके पर ही 500-500 रुपए नगद इनाम राशि देकर सम्मानित किया।
           पुलिस अधीक्षक श्री बागरी  के अनुसार उन्होंने पंचायत चुनाव के मद्देनजर  इन थानों का औचक निरीक्षण किया था। जिसमें पांच लोग लापरवाह पाए गए, जिन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। बाकी के जो लोग अलर्ट मिले हैं, उन्हें इनाम देकर पुरुस्कृत किया गया है।