प्रधानपाठक निलंबित ; दो शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश

आनंद ताम्रकार

बालाघाट ८ अक्टूबर ;अभी तक; कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा ने आज दिनांक 8 अक्टूबर 21 को वारासिवनी तहसील के अंतर्गत ग्राम मेंहदीवाड़ा, सोनझरा, सिंगोड़ी, झालीवाड़ा की शालाओं का आकस्मिक निरीक्षण किया गया और वहां की व्यवस्थाओं को देखा गया। निरीक्षण के दौरान वारासिवनी एसडीएम श्री संदीप सिंह, सर्व शिक्षा अभियान के जिला परियोजना समन्वयक श्री पी एल मेश्राम एवं सहायक यंत्री श्री भास्कर शिव भी उपस्थित थे।

कलेक्टर डॉ मिश्रा ने मेंहदीवाड़ा के प्राथमिक, माध्यमिक एवं हाई स्कूल के निरीक्षण के दौरान शिक्षक सर्विस बुक, उपस्थिति पंजी एवं शाला परिसर का निरीक्षण किया । इस दौरान उन्होंने सर्विस बुक अपडेट नही करने पर एल डी सी आर.एन. दुबे को निर्देशित किया कि सभी शिक्षकों की सर्विस बुक शीघ्र अपडेट करायें। इसके साथ ही उन्हें चेतावनी दी गई कि भविष्य में त्रुटि करने पर निलंबन की कार्यवाही की जायेगी। मेंहदीवाड़ा-गोंडीटोला के प्राथमिक स्कूल के निरीक्षण के दौरान हिंदी माध्यम एवं अंग्रेजी माध्यम शाला का रखरखाव ठीक से नहीं करने, बच्चों को पुस्तकों वितरण नहीं करने एवं एनएएस की कक्षा का संचालन नही करने पर प्रधान पाठक श्री प्रदीप कोसरकर को निलंबित करने के निर्देश दिए गए। निरीक्षण के दौरान शाला की शिक्षिका गंगेश्वरी ठाकरे के शाला से बाहर घूमते पाए जाने पर उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये गये।

प्राथमिक एवं मध्यमिक शाला सोनझरा के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर डॉ मिश्रा ने बच्चों से कक्षावार पढ़ाई एवं अन्य गतिविधि तथा गणित के प्रश्न पूछे । इस दौरान समझ आ गया कि गणित के शिक्षक श्री राजेन्द्र गौतम द्वारा बच्चों को ठीक से नही पढाया जा रहा है। इस पर उन्होंने गणित शिक्षक राजेन्द्र गौतम शिक्षक को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूल सिंगोड़ी के निरीक्षण के दौरान उन्होंने बच्चों से जानकारी ली गई बेस लाइन टेस्ट एवं पढ़ाई के बारे में पूछा । शिक्षक द्वारा शाला में 01 शिक्षक की मांग करने पर व्यवस्था करने बाबद संकुल प्राचार्य झालीवड़ा श्रीमती रश्मि जैन को फोन पर निर्देशित किया गया कि 01 शिक्षक की व्यवस्था करें। कलेक्टर डॉ मिश्रा ने सभी शालाओं में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा जल जीवन मिशन अंतर्गत कराए जा रहे कार्यों का भी निरीक्षण किया।