प्रधानमंत्री ने सरकारी योजनाओं की परिपूर्णता का आव्हान किया था

8:27 pm or July 29, 2022
महावीर अग्रवाल
मन्दसौर २९ जुलाई ;अभी तक;  डिजिटल समावेशन और कनेक्टिविटी सभी के लिए सरकार के ‘अंत्योदय’ दृष्टिकोण का एक अभिन्न अंग है।2021 में अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में, प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सरकारी योजनाओं की  परिपूर्णता  का आह्वान किया था।
सभी के लिए डिजिटल समावेशन और कनेक्टिविटी सरकार के ‘अंत्योदय’ दृष्टिकोण का एक अभिन्न अंग है। 2021 में अपने स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में, प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सरकारी योजनाओं की परिपूर्णता का आह्वान किया।केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 27.07.2022 को देश भर के दूर दूर के गांवों में 4जी मोबाइल सेवाओं की  परिपूर्णता की परियोजना को मंजूरी दी थी।
1) परियोजना की कुल लागत रु. 26,316 करोड़
2) यह परियोजना दूरदराज और दुर्गम क्षेत्रों में 24,680 अनकवर्ड गांवों में 4जी मोबाइल सेवाएं प्रदान करेगी।
3) परियोजना में पुनर्वास, नई बस्तियों, सेवाओं की वापसी आदि के कारण मौजूदा ऑपरेटरों द्वारा 20% अतिरिक्त गांवों को शामिल करने का प्रावधान है।
4) इसके अलावा, केवल 2जी/3जी कनेक्टिविटी वाले 6,279 गांवों को 4जी में अपग्रेड किया जाएगा।
पिछले साल सरकार ने 5 राज्यों के 44 महत्वाकांक्षी जिलों के 7,287 अनकवर्ड गांवों में 4जी मोबाइल सेवाएं प्रदान करने के लिए एक परियोजना को मंजूरी दी थी।
परियोजना को बीएसएनएल द्वारा आत्मनिर्भर भारत के 4 जी प्रौद्योगिकी स्टैक का उपयोग करके निष्पादित किया जाएगा और इसे यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड के माध्यम से वित्त पोषित किया जाएगा। परियोजना की लागत रु. 26,316 Cr में कैपेक्स और 5 साल का ओपेक्स शामिल है।
बीएसएनएल पहले से ही आत्मनिर्भर 4जी प्रौद्योगिकी स्टैक की तैनाती की प्रक्रिया में है, जिसे इस परियोजना में भी तैनात किया जाएगा।
यह परियोजना ग्रामीण क्षेत्रों में मोबाइल कनेक्टिविटी प्रदान करने के सरकार के विजन की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। यह परियोजना मोबाइल ब्रॉडबैंड के माध्यम से विभिन्न ई-गवर्नेंस सेवाओं, बैंकिंग सेवाओं, टेली-मेडिसिन, टेली-एजुकेशन आदि के वितरण को बढ़ावा देगी और ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार पैदा करेगी।
इस संबंध में, आपके संदर्भ के लिए “मोबाइल 4 जी सेवाओं के लिए अनकवर्ड गांवों” की सूची संलग्न है।