प्रशासन की मनमानी कांग्रेस पार्टी समर्थित गुनौर जनपद के उपाध्यक्ष बनाये गये परमानन्द को हटाकर भाजपा समर्थित रामशिरोमणि को बना दिया उपाध्यक्ष

8:17 pm or July 28, 2022
(दीपक शर्मा)
पन्ना २८ जुलाई ;अभी तक; वर्तमान समय मे प्रदेश मे नियम कानून ताक पर रखकर सत्ताधारी पार्टी के नेताओं के ईशारे पर जिला प्रशासन नाच रहा है तथा मनमाने ढंग से नियम विरूद्ध कार्य कर रहा है, नेताओं के इशारे पर ही नगरीय तथा पंचायती चुनाव मे लडने वाले प्रतिनिधियों को विजय घोषित किया जा रहा है।
                    इसी प्रकार का मामला गुनौर जनपद पंचायत मे संपन्न हुए अध्यक्ष् तथा उपाध्यक्ष चुनाव मे देखने को मिला गुनौर जनपद पंचायत मे 27 जुलाई को उपाध्यक्ष के चुनाव संपन्न कराये गये। जिसमे पीठा सिंह अधिकारी रामनिवास चौधरी की उपस्थिती मे संपूर्ण प्रकिया संपन्न कराई गई। जनपद पंचायत के 25 सदस्यो ने मतदान का प्रयोग किया। उपाध्यक्ष पद पर दो सदस्यो द्वारा नामांकन जमा किये गये थे जिसमे कांग्रेस समिर्थित परमानन्द शर्मा तथा भाजपा समर्थित रामशिरोमणि मिश्रा निर्वाचन अधिकारी की उपस्थिती मे विधिवत रूप से 25 सदस्यो ने मतदान का प्रयोग किया। जिसमे गणना की गई तो 13 मत परमानन्द शर्मा को प्राप्त हुए तथा 12 मत रामशिरोमणि मिश्रा को प्राप्त हुए। इस प्रकार परमानन्द शर्मा विजय घोषित किये गये। रिटर्निंग अधिकारी तहसीलदार रामनिवास चौधरी द्वारा परमानन्द शर्मा को निर्वाचित होने का प्रमाण पत्र दिया गया। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के समर्थित प्रत्याशी की हार से बोखलाकर बडे नेताओं के इशारे पर उक्त मामले की शिकायत कलेक्टर न्यायालय मे की गई कलेक्टर द्वारा संबंधित निर्वाचन को मनमाने ढंग से निरस्त करते हुए फिर से 28 जुलाई को लाट द्वारा चुनाव संपन्न कराने के आदेश दिये गये जिस पर फिर से रिटर्निंग अधिकारी द्वारा 28 जुलाई को लाट के माध्यम से मनमाने ढंग से प्रक्रिया करते हुए कांग्रेस समर्थित परमानन्द शर्मा को हरा दिया तथा राम शिरोमणि मिश्रा को विजय घोषित करते हुए प्रमाण पत्र जारी कर दिया। इस प्रकार जिले मे मनमाने ढंग से अधिकारीयों द्वारा सत्ताधारी पार्टी के नेताओं के इशारे पर अन्य दलो के समर्थित विजय प्रत्याशीयों को हराने का कार्य किया जा रहा है। उक्त घटनाक्रम को लेकर लोगो मे तथा कांग्रेस पार्टी मे जिला प्रशासन के प्रति आक्रोश का माहोल कायम है। इस संबंध मे जिला कांग्रेस अध्यक्ष शारदा पाठक ने कडी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि जिले मे हिटलर शाही व्याप्त है अधिकारी सत्ता के चाटुकार बने हुए है जिन पर कार्यवाही की जानी चाहीए।