प्राकृतिक मार से किसानों की फसलें बर्बाद कमलनाथ जी ने नुकसानी का तत्काल मुआवजा दिया था, शिवराज सरकार भी दे तत्काल मुआवजा – परशुराम सिसोदिया

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर / कुचड़ौद ८ जनवरी ;  क्षेत्र में शुक्रवार को रात्रि 9:00 से 10:00 के बीच मांवठे की तेज हवा के साथ बारिश एवं ओले गिरने से क्षेत्र के सातल खेड़ा अरनिया गुर्जर सहित अन्य ग्रामों मे किसानों की फसलों मैं भारी नुकसान हुआ बारिश एवं ओलों के साथ तेज हवाओं से फसलें पूरी तरह झुक गई जिससे किसानों के ऊपर एक बार फिर प्राकृतिक मार पड़ी
 पिछले खरीफ सीजन में सोयाबीन की फसल अफलन रही थी और अब रबी सीजन में मांवठे की तेज हवा के साथ बारिश एवं ओले गिरने से गेहूं चना अलसी धनिया सरसों सहित अन्य फसलें पूरी तरह से झुक गई
 किसानों ने प्रशासन एवं सरकार से तुरंत मुआवजा देने की मांग की
शनिवार को राजस्व एवं कृषि विभाग के अधिकारी किसानों के खेतों पर पहुंचे और बारिश एवं ओले से प्रभावित फसलों का सर्वे किया अधिकारियों ने भी फसलों में नुकसान माना
 इस दौरान कांग्रेस नेता परशुराम सिसोदिया व कांग्रेस कार्यकर्ता भी किसानों की फसलें देखने के लिए किसानों के खेतों में पहुंचे और प्राकृतिक आपदा में किसानों की तत्काल मदद के लिए खड़े रहने की बात कहीं
सातल खेड़ा के मुकेश सोलंकी, किशोर रावत, मदन, विपिन, राजाराम, नागुलाल, बालमुकुंद, राहुल, लव कुश, गोवर्धन,,अरनिया गुर्जर के भंवर सिंह, धर्मेंद्र सिंह, देवराम, लाऊखेड़ी के कैलाश बागरी ने बताया शुक्रवार शाम 9:00 से 10:00 के बीच तेज हवा के साथ बारिश एवं ओले गिरने से फसलों में नुकसान हुआ
 किसान लगातार 3 सालों से प्राकृतिक मार झेल रहा है कभी अत्यधिक बारिश तो कभी अल्प वर्षा तो अब रबी सीजन में बारिश एवं ओलों से फसलें 80% नष्ट हुई
 सरकार को तत्काल किसानों की मदद के लिए मुआवजा देना चाहिए वहीं पिछले खरीफ सीजन में सोयाबीन अफलन का भी अभी तक मुआवजा नहीं मिला वह भी तत्काल देकर सरकार को किसानों की मदद करना चाहिए
बारिश एवं ओले से प्रभावित फसलों के निरीक्षण के दौरान मल्हारगढ़ विधानसभा के कांग्रेस प्रत्याशी रहे परशुराम सिसोदिया ने किसानों की आवाज उठाते हुए शिवराज सरकार से मांग करते हुए कहा किसानों की फसल बारिश एवं ओले से नुकसानी का तुरंत मुआवजा देना चाहिए जैसा कि 2019 बाढ़ से किसानों की फसलें पूरी तरह से चौपट हो गई थी तब कमलनाथ जी ने बिना सर्वे के ही मुआवजा बांटा था उसी तरह शिवराज सरकार भी सर्वे क्रॉप कटिंग नुकसानी का आकलन करने की जगह तत्काल किसानों को मुआवजा देकर अन्नदाता की मदद करें, वर्तमान में बारिश एवं ओले से 80% के करीब नुकसान हो गया है किसानों के सामने परिवार का पालन पोषण करने का संकट आ गया है जिसके लिए सरकार को सर्वे के चक्कर में नहीं पढ़ कर तत्काल मुआवजा देना चाहिए
 बारिश एवं ओले से प्रभावित फसलों के निरीक्षण के दौरान धुंधडका नायब तहसीलदार राहुल डावर ने बताया क्षेत्र के सातल खेड़ा मैं ओले एवं बारिश से ज्यादा नुकसान हुआ है वही अरनिया गुर्जर मैं भी आंशिक ओले एवं बारिश के साथ हवा चलने से पूरी तरह से फसलें झुक गई नेत्रांकन सर्वे मैं नुकसान दिख रहा है रिपोर्ट उच्च अधिकारियों तक भेजी जाएगी
प्राकृतिक आपदा बारिश एवं ओले से प्रभावित फसलों के सर्वे के दौरान सेमलिया काजी पटवारी राहुल राठौर लाऊखेड़ी पटवारी ओम प्रकाश धाकड़ कृषि विस्तार अधिकारी कबीरपंथी धुंधडका ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष किशोर गोयल डॉक्टर अनिल गुप्ता लाऊखेड़ी प्रधान प्रतिनिधि गजराजसिंह कचरू लाल राठौर जिलानि शाह सेमलिया काजी एवं चौकीदार मौजूद थे