प्रायमरी-मिडिल स्कूलों के ३ लाख विद्यार्थियों को गणवेश का इंतजार

4:49 pm or November 19, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल १० नवंबर ;अभी तक;  बैतूल जिले के शासकीय प्रायमरी-मिडिल स्कूलों के लगभग तीन लाख छात्र-छात्राओं को नि:शुल्क गणवेश का इंतजार है। बीते शिक्षा सत्र के साथ ही चालू शिक्षा सत्र में भी विद्यार्थियों को गणवेश नहीं मिली है। शिक्षा सत्र २०२१ में लगभग 1 लाख 54 हजार ३७७ एवं शिक्षा संत्र २०२२ में लगभग १ लाख ४९ हजार २१४ छात्र-छात्राओं को दो-दो जोड़ गणवेश वितरण किया जाना था। परन्तु राज्य सरकार और शिक्षा विभाग नि:शुल्क गणवेश वितरण को लेकर ठोस रणनीति नहीं बनाई जाने के चलते बैतूल जिले के तीन लाख से अधिक विद्यार्थियों सहित प्रदेश के लाखों विद्यार्थी गणवेश से वंचित है। दोनों शिक्षा सत्रों में विद्यार्थियों को न तो गणवेश मिली है और ना ही गणवेश की राशि।

५वीं-8वीं क विद्यार्थियों के खातों में जमा की राशि

राज्य शिक्षा केन्द्र द्वारा जारी निर्देशों के बाद शिक्षा सत्र २०२२ में बैतूल जिले के सरकारी स्कूलों के कक्षा ५वीं एवं कक्षा ८वीं के लगभग ३५ हजार ५८० विद्यार्थियों के खातों में गणवेश की राशि जमा की गई। जिसमें से ३०८१ विद्यार्थियों का पेमेंट फेल हो जाने से राशि खाते में जमा नहीं हो पाई है। बीते शिक्षा सत्र में कक्षा 5वीं एवं 8वीं के लगभग ३५९३० छात्र-छात्राओं के खातों में गणवेश की राशि जमा नहीं हुई है।

एसएसजी से गणवेश प्रदाय करने की कवायद

दो शिक्षा सत्रों में गणवेश वितरण में हुई लेटलतीफी के बाद राज्य शासन ने कक्षा 5वीं एवं कक्षा 8वीं के विद्यार्थियों के बैंक खातों में गणवेश की राशि जमा करने तथा कक्षा 1 से कक्षा 4 तथा ६वीं व 7वीं कक्षा के विद्यार्थियों को स्वसहायता समूह से गणवेश तैयार कर प्रदाय करने का निर्णय लिया है। राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल से संचालक द्वारा मप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को स्वसहायता समूहों से गणवेश तैयार करने को संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिये है। बैतूल जिले में दो शिक्षा सत्रों के लगभग तीन लाख विद्यार्थियों को दो-दो जोड़ गणवेश प्रदाय करना है। ऐसे में बैतूल जिले के स्वसहायता समूहों के लिए 6 लाख गणवेश तैयर करना बड़ी चुनौती से कम नहीं है। शिक्षा सत्र खत्म होने में अब सिर्फ चार माह की शेष है। इस शिक्षा सत्र के अंत तक सरकारी प्रायमारी मिडिल स्कूलों के छात्र-छात्राओं को गणवेश मिल पायेगी इसको लेकर संशय की स्थिति नजर आ रही है।