प्रेमिका के पति की हत्या करने वाले प्रेमी को दोहरी उम्र कैद व 22 हजार रूपये जुर्माना

मयंक शर्मा
ख्ंडवा २२ दिसंबर ;अभी तक;  प्रेम प्रसंग में प्रेमिका के साथ मिलकर प्रेमिका के पति की हत्या करवाने वाले आरोपी मानसिंह पिता गोविंद ,(27 वर्ष) निवासी ग्राम लखापुर ( नवलपुरा ) थाना चैनपुर जिला खरगोन को यहां प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश प्रकाश चंद्र आर्य ने विभिन्न धाराओं मेें दोषी पाते हुये दोहरे आजीवन कारावास के साथ 7 साल एवं 22 हजार रूपये के अर्थदंड से दंडित
किया  है।
                    इस प्रकरण में उल्लेखनीय है की सदर प्रकरण में आरोपी गिरजाबाई पति स्व . संजय पंवार , उम्र 24 वर्ष , को 30.नवम्बर .2021 को निर्णय पारित करते हुये माननीय न्यायालय द्वारा धारा 302 सहपठित 120 – बी में आजीवन कारावास
एवं 5000 / -रूपये अर्थदण्ड से दण्डित किया जा चुका है
                 बुधवार को न्यायालय द्वारा भारतीय दण्ड संहिता की धारा 302 में आजीवन कारावास एवं 10000 / रूपये अर्थदण्ड , धारा 302 सहपठित धारा 120 – बी भादवि में आजीवन कारावास एवं 5000 / – रूपये अर्थदण्ड , एवं धारा 201 भादवि में 7 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 5000 / – रूपये अर्थदण्ड से दण्डित किया ।
                 न्यायालय द्वारा निर्णय पारित करते हुए यह टिप्पणी की गई कि दोषसिद्ध अपराध की घटना में परिस्थितियां अभियुक्त के विरूद्ध पाई गई है जो कि एक गंभीर प्रकृति का अपराध है और अभियुक्त मानसिंह विवाहेत्तर अवैध संबंधों के आधार पर हत्या के मामले में षडयंत्रकारी पाया गया है । ऐसी घटनाओं से समाज में भय का वातावरण निर्मित होता है और अभियुक्त की अपराधिक
मनःस्थिति को दर्शित करता है किन्तु मामला विरल से विरलत्म अपराध की श्रेणी में नहीं आता है । अभियुक्त का मामला अपवादो में न होने से उसके प्रति उदारता का रूख नहीं अपनाया जा सकता क्योंकि दण्डाज्ञा के बिन्दु पर सर्वाेच्च न्यायालय द्वारा यह सिद्धांत भी प्रतिपादित किया गया है कि अपराध की प्रकृति के आधार पर यथोचित दण्ड दिया जाना चाहिए ताकि समाज में उसका उचित संदेश जाये ।अपराध करने वालो का मनोबल टुट जाये तथा समाज सुरक्षित रह सके ,।विधि की समाज में प्रतिष्ठा कायम हो ।
               जिला लोक अभियोजन अधिकारी  चंद्रशेखर हुक्मलवार ने अभियोजन पक्ष की ओर से बताया कि  25जनवरी .2016 को थाना पदमनगर पर खबर मिली कि ंग्राम रहमापुर मे अज्ञात मृतक पुरूष जिसका चेहरा कुचला हुआ है , कमल पटेल के खेत की मेड़ के पास  शव पड़ा है । थाना पदमनगर द्वारा मर्ग कायम किया गया।घटना स्थल से भौतिक साक्ष्य संकलन किया जाकर पीएम कराया गया जिसमें सिर मेें चोट आने से मौत होना दर्शाया गया। मौका स्थल पर पड़ा खुन आलुदा पत्थर मिट्टी एवं अन्य भौतिक साक्ष्य प्राप्त किए गए।
,
               श्री हुक्मलवार ने बताया कि मृतक की पहचान थाना चेनपुर जिला खरगोन के गुम इंसान कालू उर्फ संजय पिता भारत के रूप मेंकी गयी। साक्षियों के कथन में एवं मृतक के शव का पीएम करने पर पाया किसिर  में चोट पहुंचा कर हत्या की जाने से धारा 302 का अपराध मानकर पडताल शुरू की गयी।
             मृतक  के परिजनों ने बताया की मानसिंह एवं गिरजाबाई के मध्य अवैध संबंध थे। इस पर ं संदेही मानसिंह से पुछताछ की गई तो कबूल किश  कि  मृतक की पत्नी गिरजाबाई के साथ हत्या का षडयंत्र कर मृतक की पत्नी के साथ अवैध संबंध होना स्वीकार किया। ृ मानसिंह ने मृतक की पत्नी गिरजाबाई के साथ अवैध संबंध आगे निरंतर बनाए रखने के उद्देश्य से संजय उर्फ कालू ( मृतक ) को योजनाबद्ध तरिके से  24 जनवरी शाम के समय बमनाला बुलाकर तथा वहां से रहमानपुर खेत में ले जाकर
गर्दन पर चाकू से प्राणघात हमला किया।  रस्सी से उसका गला दबाकर एवं साक्ष्य छुपाने की नियत से मृतक के चेहरे को बिगड़ने के लिए चेहरे को कूचलकर हत्या कर दी ।
                 अभियोजन पक्ष के अनुसार  गिरजाबाई एवं मानसिंह के मध्य अवैध संबंध होने की बात आरोपी गिरजाबाई के ससूर भरत के द्वारा भी बताई गई । आरोपी मानसिंह से घटना में प्रयुक्त चाकू , रस्सी , मृतक के मोबाईल के जले हुए अवशेष ,
मृतक का आधार कार्ड घटना के वक्त आरोपी मानसिंह के द्वारा पहने हुए कपड़े जप्त किए गए । मृतक की पत्नी गिरजाबाई भी मानसिंह के साथ संजय की हत्या का षडयंत्र करने की स्वीकृती करने पर आरोपी मानसिंह को अपराध में गिरफतार
किया गया । उल्लेखनीय है की सदर प्रकरण में आरोपी गिरजाबाई पति स्व . संजय पंवार , उम्र 24 वर्ष , निवासी लखापुर थाना चैनपुर जिला खरगोन को दिनांक 30.11.2021 को निर्णय पारित करते हुये माननीय न्यायालय द्वारा धारा 302 सहपठित 120 – बी में आजीवन कारावास एवं 5000 / -रूपये अर्थदण्ड से दण्डित किया जा चुका है ।