प्रेम-प्रसंग में बुजुर्ग मानसिंह की हत्या को दरकिनार कर खडवा व खरगौन जिला पुलिस घटना सीमा क्षेत्र सुलझाने मे  48 घंटे व्यस्त रही

मयंक शर्मा
खंडवा  ७ दिसंबर ;अभी तक; प्रेम-प्रसंग में एक बुजुर्ग मानसिंह की हत्या के मामले में थााना क्षेत्र की गुत्थी सुलझाने मेेेेेेेेेेेें खंडवा व खरगौन जिला पुलिस को 48 घण्टे लग गये। राजस्व विभाग से सीमा की जानकारी लेने के बाद प्रकरण खरगोन जिले के सनावद थाने में दर्ज किया गया है। दो जिलों की सीमा को लेकर उलझा मामला सुलझने के दो दिन बाद हत्या का केस दर्ज हो सका है।
               वर वधु पक्षों में आपसी विवाद उग्र होकर हिसंक होने पर मानसिंह बुर्जग की हत्या हो जाने पर मामला खंडवा जिले के धनगांव और खरगोन जिले सनावद थाना के बीच 48 घण्टे तक उलझा रहा था जो सोमवार को सुलझ पाया। खंडवा जिले के
संबंधित एसडीओपी राकेश पेंड्रो ने बताया कि मारपीट की घटना तीन दिसंबर ग्राम लोहारी की है। यह गांव सनावद थाना क्षेत्र में आता है। घटना के बारे में घटना के दिन ही सनावद पुलिस को अवगत करा दिया गया था। लेकिन उनका कहना था की यह घटना धनगांव थाना क्षेत्र की है। मामला सुलझाने के लिये पटवारी की मदद लेकर मौका मुआयना करते हुए नक्शा भी देखा गया। जिस पर
यह बात निकल कर सामने आई की घटनास्थल जहां मानसिंह के साथ मारपीट हुई है। उन्होने कहा कि इसके बाद  तय हुआ कि थाना क्षेत्र सनावद है जो खरगौन जिला अंर्तगत है।
               एसडीओपी ने बताया कि मामला यू है कि खंडवा जिले के धनगांव थाना क्षेत्र के ग्राम जामनिया निवासी राजू पिता  कोमल गांम पडोसी की युवती से प्रेम प्रसंग के चलते कोई 8 माह पहले भगा ले गया था। हाल ही में दोनों लौट आये। युवती का गृह ग्राम लोहारी है जो सनावद थाना अंतर्गत है। अपने पुत्र राजू के लौट आने पर परिजनो ने तय किया कि दोनो का ब्याह करा
देना चाहिये। यह फैसला कर वर पक्ष शादी का प्रस्ताव लेकर ग्राम लोहारी कन्या के घर पहुंचा। दोनों पक्षेां की मोजूदगी मे जातीय पंचायत बैठी और समझौता राशि तय करके फैसला सुनाया  कि वर पक्ष 25 हजार रूपये वधु पक्ष को देगा। यह रकम वधु पक्ष को नागवार गुजरी और उसने 5 लाख रूपये की डिमांड रख दी इससे वर पक्ष सहमत नहीं हुआ और देने से इंकार कर देने पर वर पक्ष के आगन्तुक तीन लोगो पर हमला कर दिया। इससे विवाद उग्र हो कर हिंसक हो गया ओर कन्या के परिजनों ने रिश्तेदारों के साथ मिलकर शादी का प्रस्ताव लेकर आए आगन्तुको पर हमला करते हुये उन्हें बंधक बनाकर रस्सी से बांध दिया था। इनकी लाठियो से जमकर पिटाई की तो मानसिंह को दौडा दौडाकर पीटा। इसमें मानसिंह  मेहाल सिंह व बद्री ।सभी वर पक्ष केे ग्राम जामुनिया
निवाासी।घायल हो गये। मानसिंह की हालत नाजुक होने पर उसे इंदौर रेफर किया जहां उपचार दैारान रविवार तडके उसने दम तोड दिया।अन्य घायल दोनो का स्थनीय चिकित्सालय में उपचार के लिये भर्ती किया गया।
                   पीडित पक्ष धनगावं थाना अंतर्गत ग्राम  जामूनिया का निवासी होने से  धनगांव थाने गया तो उसे मौका स्थल लोहारी होने से सनावद थाने जाने को कहा तो सनावद पुलिस ने घटना क्षेत्र अपना  होने से इंकार करते रपट दर्ज नहीं कर भगा दिया।शनिवार की मरपीट के घटनाक्रम में गंभीर घायल मानसिंह ने रविवार कडके  इंदौर मे  उपचार दौरान दम तोड दिया। मानसिंह की मौत के बाद मामला गंभीर हो गया लेकिन  दोनों स्थानों की पुलिस ने सुघ नही ली।मामला अखबारी सुर्खियो में आने के बाद सोमवार को पुलिस विभाग सक्रिय हुआ । राजस्व विभाग से पटवारी ने रपट दी कि घटना क्षेत्र सनावद का है। 2 दिन बाद सनावद पुलिस ने हत्या सहित विभिन्न धाराओ मेें अपराध दर्ज कर मामले में पडताल शुरू कर दी ह।
               मृतक मान सिंह के परिजन का आरोप है कि वह आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग के लिए धनगांव गए, तो वहां की पुलिस ने कहा कि सनावद का मामला है, वहां जाओ। सनावद थाने गए, तो वहां से भी पुलिस ने भगा दिया है। शनिवार को हमले
व हत्या की शिकायत वे सोमवार को ही सनावद पुलिस को  दर्ज करा पाये।
…………..