फर्जी हाजरी भरकर किया जा रहा शासकीय राशि का दुरूपयोग

11:07 pm or January 5, 2022

नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला  05 जनवरी ;अभी तक;   एक तरफ शासन रोजगार मुहैया कराने के लिए लोगों को योजनाओं का लाभ दे रही है, वहीं दूसरी तरफ शासन की योजनाओं से लोगों को ग्राम पंचायत में पदस्थ रोजगार सहायक जो मनरेगा के कार्यों को करते हैं उनके द्वारा ही अनियमितता की जा रही। ऐसे ही एक मामला  ग्राम पंचायत घुघरी में देखने को मिला। जहां पर पदस्थ रोजगार सहायक बलवानी उर्वेदी के द्वारा शासन की योजनाओं से लोगों को वंचित किया जा रहा है। साथ ही रोजगार सहायक के साथ ग्राम पंचायत घुघरी में बहुत वर्षो से मेट का कार्य कर रहे मुन्ना चक्रवर्ती के साथ मिलीभगत कर फर्जी जॉब कार्ड बनाकर और फर्जी मस्टर में हाजिरी निकालकर शासकीय राशि का दुरुपयोग किया ज रहा है।

बताया गया कि विगत एक सप्ताह में 30 से 35 फर्जी हाजरी निकाला जाता है। वहीं जो व्यक्ति कार्य नहीं किया उसके नाम से मस्टर भर कर हाजरी चढ़ाकर भुगतान किया जा रहा है। यदि कोई व्यक्ति इसके लिए आवाजा उठाता है तो उसको योजना के लाभ से वंचित किया जा रहा है। इसी के साथ प्रधानमंत्री आवास में भी हितग्राही को  एक लाख तीस हजार उनके खाते में दियिा जाता है  और बाकी लेबर भुगतान की राशि 18 हजार रुपये में किया जाता है। ग्राम पंचायत रोजगार सहायक द्वारा लेबर पेमेंट मस्टर हाजरी निकालकर भुगतान किया जा रहा है। लेकिन ऐसा रोजगार सहायक के द्वारा बहुत कम लोगों के साथ किया जाता है जो उनके चहेते खास हैं उनसे खर्चा लेकर उनका मस्टर हाजिरी निकाला जाता है बाकी का नहीं।

जिओ टेग के नाम से लोगों को करता है परेशान  :

प्रधानमंत्री आवास में बिना रोजगार सहायक के जियो टैग नहीं हो पाता है। जिसके कारण उसे आवास की किस्त नहीं मिलती। इस प्रकार से रोजगार सहायक द्वारा मनमानी की जा रही है साथ ही मैट और रोजगार सहायक दोनों मिलकर फर्जी हाजरी जो हितग्राही काम पर नहीं जाता उसका मस्टर निकाला जा रहा है। हितग्राही को  कमीशन दे कर बची हुई हाजिरी की राशि में रोजगार सहायक और मेट मिल बांटकर बंदर बांट कर लेते हैं।