फलदान समारोह से लौट रहे परिवार के लोग, पिता की मौत बेटे ने उपचार के अभाव में तड़प तड़प कर तोड़ा दम

 भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा
३० अप्रैल ;अभी तक; भिंड जिला मुख्यालय से करीब 20 किलोमीटर दूर मेहगांव कोरोना काल प्रसव पीड़ित महिला घायल व्यक्ति के अलावा अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों को उपचार नहीं मिल पा रहा है । कोरोना ड्यूटी के नाम पर अंचल के अस्पतालों में अव्यवस्था का आलम है इसकी बानगी 29 अप्रैल की सुबह में गांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में देखने को मिली जा सड़क हादसे में घायल एक 19 वर्षीय युवक की उपचार के अभाव में तड़प-तड़प कर मौत हो गई जबकि उसके पिता की मौके पर ही मौत हो चुकी थी वही उसकी मां की नाजुक हालत में जिला अस्पताल रेफर किया गया है
                      दरअसल 43 वर्षीय रामजीत सिंह परिहार पुत्र जगन्नाथ सिंह निवासी हरीपुरा गोहद 28 अप्रैल को मैं गांव क्षेत्र के ग्राम हरी राजपुरा में आयुर्वेद अपने साले के लग्न फलदान कार्यक्रम में शामिल होने गए थे जहां से वह अपनी 41 वर्षीय पत्नी नीतू देवी वह पीटी निरंजन सिंह के साथ मोटरसाइकिल पर सवार होकर गृह गांव लौट रहे थे इसी दौरान में गांव का सर्वे के नेशनल हाईवे 92 पेट्रोल पंप के पास उसकी बाइक के सामने जा रहे ट्रक को ओवरटेक करने के दौरान उसकी मोटरसाइकिल सामने से आ रहे वाहन क्रमांक एमपी 07 जी 3276 की जैकेट में आ गई हादसे में रंजीत सिंह की घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि नीतू व उसके बेटे निरंजन की गंभीर रूप से घायल अवस्था में मैं गांव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां 40 मिनट तक ना तो चिकित्सक देखने पहुंचा और ना ही असरदार का कोई पैरामेडिकल स्टाफ ने उसकी सुध ली लिहाजा निरंजन की मौत हो गई वही नीतू को जिला अस्पताल के लिए भेज दिया गया प्रभारी मंत्री के निर्देश बेअसर उल्लेखनीय है कि मैं गांव अस्पताल में 3 दिन पूर्व ही प्रभारी मंत्री ओ पी एस भदौरिया ने 3 दिन पूर्व निरीक्षण किया था इस दौरान उन्होंने अवस्थाओं पर नाराजगी जाहिर करते हुए खंड चिकित्सा अधिकारी को स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर करने के निर्देश दिए थे बावजूद इसके उनके निर्देशों को कोई वह देखने को नहीं मिल रहा है चिकित्सकों की कमी होने के कारण ऐसे आपातकाल में उन्हें हटाने की कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं फिर भी अस्पताल में 24 घंटे एक चिकित्सक मौजूद रहे इसके निर्देश दिए हैं संबंधित के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी ओ पी एस भदौरिया प्रभारी मंत्री भिंड ने क हां