फसल सुरक्षा दीवार निर्माण कार्य मे ग्राम पंचायत झिरमिला में भारी फर्जीवाडा

11:28 pm or January 14, 2023

दीपक शर्मा

पन्ना 14 जनवरी अभीतक

पन्ना जिले मे मनरेगा योजना के तहत किये जा रहे विभिन्न कार्यो मे व्याप्क स्तर पर ग्राम पंचायतो मे सचिव, सरपंच, उपयंत्रीयों द्वारा फर्जी बिल बाउचर लगाकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। जिला पंचायत द्वारा ग्राम पंचायतो मे 15 लाख की लागत से फसलो को मवेशियो तथा जंगली जानवरो से बचाने के लिए फसल सुरक्षा दीवार बनाई जाती है। जिसमे ग्राम पंचायतो के जिम्मेवारो द्वारा आस पास के पत्थर उठाकर ठेके पर लाख दो लाख की राशि खर्च करके निर्माण कार्य पूर्ण कर दिया जाता है तथा शेष राशि का नीचे से लेकर उपर तक विभाग के अधिकारीयों एवं जिम्मेवारो द्वारा बन्दरबाट कर लिया जाता है। इसी प्रकार का मामला शाहनगर  जनपद पंचायत अन्तर्गत ग्राम पंचायत झिरमिला का प्रकाश में आया है जहां पर ऐसे स्थान पर फसल सुरक्षा दीवार का निर्माण किया जा रहा है जिस स्थान पर किसानो के खेत भी नही है दूसरी ओर अवैध रूप से पत्थर की खुदाई करके खखरी का निर्माण किया जा रहा है तथा उक्त संपूर्ण कार्य टैक्टरो के माध्यम से तथा ठेका देकर संबंधित फसल सुरक्षा दीवार बनाई जा रही है एवं पत्थरो के फर्जी बिल बाउचर बनाकर राशि आहरित करली जायेगी। उक्त संबंध मे ग्रामीणो द्वारा तहसीलदार शाहनगर से भी शिकायत की गई है। जिस पर तहसीलदार का कहना है कि संबंधित अवैध उत्खनन की जांच कराई गई है, जिसमे अवैध रूप से पत्थर खदान संचालित पाई गई लेकिन कोई भी वाहन परिवहन करते हुए नही मिला है। मामले की जांच कराकर कार्यवाही की जायेगी। गौर तलब है कि यह तो एक मात्र उदाहरण है पूरे जिले मे मनरेगा की राशि का इसी प्रकार से फर्जीवाडा किया जा रहा है। स्थानीय लोगो ने संबंधित मामले की जांच कराकर दोषीयों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है।