फार्मासिस्ट रजिस्ट्रेशन के नवीनीकरण की अवधि प्रदेश सरकार ने 5 वर्ष की

महावीर अग्रवाल
मन्दसौर १७ सितम्बर ;अभी तक;  मध्यप्रदेश शासन द्वारा फार्मासिस्ट रजिस्ट्रेशन नवीनीकरण की अवधि पुनः 5 वर्ष कर दी गई है जिससे सभी फार्मासिस्ट साथियों को राहत मिली है।
                एमपी फार्मासिस्ट एसोसिएशन लगातार प्रदेश के फार्मासिस्ट साथियों के हित में लगातार काम कर रहा है एवं पीसीआई अध्यक्ष ओम जैन से सतत् संपर्क कर रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के नियमो में बदलाव के लिए लगातार संपर्क स्थापित करता रहा है। इसी तारतम्य में फार्मास्टि के रजिस्ट्रेशन अवधि जो पूर्व में 5 वर्ष से 1 वर्ष कर दी गई थी इस मामले को पीसीआई अध्यक्ष श्री जैन द्वारा मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री के संज्ञान में लाया गया जिसके चलते नवीनीकरण की अवधि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान व स्वास्थ्य मंत्री के द्वारा बढ़ाकर 5 वर्ष की गई है। जिसका दिनांक 15 सितंबर 2020 के राजपत्र में प्रकाशन भी हुआ है।
                 इसके लिए संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अमितसिंह ठाकुर, प्रदेश महासचिव अखिलेश त्रिपाठी, एवं प्रदेश सचिव दीपक मिश्रा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री एवं पीसीआई अध्यक्ष ओम जैन का आभार व्यक्त किया है एवं कहा कि को नवीनीकरण की अवधि 5 वर्ष की कर के प्रदेश के समस्त फार्मासिस्ट साथियों को राहत दी है एवं उनमें खुशी की लहर है। इससे निश्चित ही परेशानियां कम होगी। प्रदेश के ऐसे फार्मासिस्ट साथी जिनका सालो से रजिस्ट्रेशन डाटा मैच ना होने के कारण रिन्युअल की प्रक्रिया नहीं हो पा रही थी उनके लिए ऑनलाइन पोर्टल पर 200रु शुल्क के साथ सुधार की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। पीसीआई काउंसिल एवं प्रदेश सरकार से आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि जल्द ही फार्मेसी इंस्पेक्टर की नियुक्ति हो, फार्मेसी एक्ट का शक्ति से पालन हो एवं सभी मेडिकल स्टोर्स में फार्मासिस्ट की उपलब्धता हो ऐसे गंभीर विषयों जल्द सरकार उचित निर्णय लेगी। उक्त जानकारी एमपी फार्मासिस्ट एसोसिएशन मंदसौर के जिलाध्यक्ष प्रतापसिंह चंद्रावत ने दी है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *