फास्टैग के उपयोग को लेकर सांसद सुधीर गुप्ता ने लोकसभा में किया प्रश्न 

महावीर अग्रवाल
मंदसौर २० मार्च ;अभी तक;   सांसद सुधीर गुप्ता ने फास्टैग के उपयोग को लेकर लोकसभा में प्रश्न किया । सांसद सुधीर गुप्ता ने कहा कि देश के विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्ग पर टोल वसूली के लिए फास्टैग के उपयोग को अनिवार्य घोषित किया गया है । ऐसे में इसका क्या ब्यौरा है । वही क्या सरकार के पास देश में फास्टैग के बिना चल रहे वाहनों की संख्या के संबंध में कोई जानकारी है । फास्टैग रहित वाहनों को किसी निर्धारित प्रावधानों के अनुसार कंपाउंड कर लिया जाएगा । यदि ऐसा है तो इसका ब्यौरा क्या है । वहीं सांसद सुधीर गुप्ता ने यह भी कहा कि टोल एकत्र करने वाली एजेंसियां सरकार द्वारा स्थानीय लोगों, ग्रामीणों और किसानों जिन्हें दिन-प्रतिदिन  कार्यों के लिए टोल प्लाजा पार करने की आवश्यकता पड़ती है, उनकी समस्या का समाधान किस प्रकार किया जाएगा।
प्रश्न के जवाब में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि डिजिटल मोड़ के माध्यम से शुल्क भुगतान को बढ़ावा देने और शुल्क प्लाजाओ से सुगम मार्ग प्रदान करने के लिए सरकार ने 16 फरवरी 2021 की मध्य रात्रि से राष्ट्रीय राजमार्ग पर शुल्क प्लाजाओ के सभी लेन को प्लाजा की फास्टैग घोषित किया है । साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग सभी को शुल्क  नियम 2008 के अनुसार गैर वाणिज्य वाहन के स्वामी और शुल्क प्लाजा से 20 किलोमीटर के भीतर रहने वाले के लिए मासिक पास का प्रावधान है। किसी विशेष जिले में पंजीकृत एक वाणिज्यिक वाहन उस जिले में स्थित सभी शुल्क प्लाजा ऊपर निर्धारित प्रयोग का शुल्क का 50%  का भुगतान करने का पात्र है । इसके अलावा जहां सर्विस रोड या वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध नहीं है वहां दो पहिया, तीन पहिया,  ट्रैक्टर, कंबाइन हार्वेस्टर और पशुओं द्वारा चलाए जाने वाले वाहनों से कोई शुल्क  नहीं लिया जाता है । इसी के साथ ही उन्होंने बताया कि देश में  फास्टैग के बिना चलने वाले वाहनों की की अनुमानित संख्या लगभग 2.065 करोड़  हैं ।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *