फौजी के घर में लाश, पत्नी को गोली मारकर घायल होने के मामले में आज छठवें दिन पुलिस के हाथ खाली

 भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा
भिंड ३० मई ;अभी तक; गोली लगने से घायल फौजी की पत्नी की होश में आने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली । भिंड शहर की देहात थाना पुलिस क्षेत्र के गांव ग्राम रतनपुरा सर्किट हाउस के पीछे गत 25 मई की देर शाम घर के अंदर गोली लगने से घायल फौजी की 35 वर्षीय पत्नी आंगन में पड़ी मिलने और एक न्यायालय के निलंबित व्यक्ति की लाश के मामले में पुलिस के हाथ 5 दिन बाद भी खाली हैं ।
                 ऐसा नहीं कि गोली सुनसान जंगल में चली थी जहां दूर-दूर तक कोई नहीं था बल्कि एक घर के अंदर हुई थी जिसमें तीन बच्चों के अलावा आसपास आधा दर्जन से ज्यादा घर बने हुए हैं ।
                 उल्लेखनीय है कि आर्मी जवान राघवेंद्र सिंह यादव के घर में उसकी पत्नी पूजा यादव सिर में गोली लगने से घायल अवस्था में पाई गई थी जबकि आंगन में न्यायालय के निलंबित अध्यक्ष नरेंद्र कौर बृजेश सिंह गौड़ निवासी समीर नगर भिंड का खून में लथपथ शव पड़ा मिला था । लाश के पास ही वारदात में प्रयुक्त किया गय कट्टा वे चार जिंदा कारतूस बैग में पाए गए थे और कट्टा कारतूस बैग मृतक के पास ही पाए गए थे पुलिस को मौके से पुलिस को कई साक्ष्य मिले । तफ्तीश के आधार पर पुलिस मामले का खुलासा 2 दिन में ही कर रही सकती थी हैरानी की बात यह है कि पूजा यादव जे ए एच हॉस्पिटल ग्वालियर  में भर्ती है जबकि पुलिस का कहना है कि वह प्राइवेट नर्सिंग होम में भर्ती है ।
            ग्वालियर मैं हालांकि एक टीम कल गवालियर के लिए बीती रात महिला के बयान लेने के लिए गई थी वह भी  बैरंग लौट आई । हैरानी की बात यह है कि पूजा यादव ग्वालियर के अस्पताल में 5 दिनों में भी होश नहीं आया ताकि पुलिस वारदात के बारे में पूछताछ करें । सूत्रों द्वारा ज्ञात हुआ है जहां उसे होश  आ गया है और बोलने की स्थिति में भी है । ऐसे में थाना प्रभारी देहात जींद ज्ञानेंद्र सिंह तोमर उससे पूछताछ करने के लिए 29 मई को 2:00  पहुंचे थे जहां उन्हें उसने एक शब्द भी पुलिस को नहीं बताया लिहाजा पुलिस खाली हाथ ही ग्वालियर के प्राइवेट अस्पताल से लौट आई है ।
पूजा यादव वह मोबाइल पर कर रही थी बात
             घटना के समय अपने पति से मोबाइल पर हो रही थी बात ऐसा बताया गया था पुलिस द्वारा अब पूजा यादव और उनके फौजी पति की कॉल डिटेल तक का ब्यौरा पुलिस अभी तक नहीं दे पा रही है बता दें कि वारदात वाले दिन पूजा के मोबाइल पर किन-किन नंबरों से कॉल आए तथा मृतक नरेश सिंह गौड़ ने किस-किस से बातचीत की और कितनी देर तक वही फौजी राघवेंद्र सिंह वारदात से 2 दिन पूर्व ड्यूटी के लिए रवाना हुआ था इस दौरान उसके मोबाइल की लोकेशन कहां कहां रही तक किन-किन से बात की इस बारे में पुलिस कुछ भी नहीं बता रही हत्या या आत्महत्या के फेर में उलझा मामला देहात थाना प्रभारी ध्यान सिंह के अनुसार प्रारंभिक तौर पर ऐसा लग रहा है नरेंद्र सिंह गौर ने पूजा यादव को गोली मारकर खुद को गोली मार ली हालांकि जांच पूरी होने से पूर्व कुछ भी नहीं कहा जा सकता यह भी हो सकता है पूजा यादव ने पति से मिलकर क्योंकि मृतक के खिलाफ पूजा बलात्कार का केस दर्ज कराया था वह अभी भी न्यायालय में विचाराधीन है मृतक भी इसी केस में न्यायालय में पदस्थ था उक्त केस लगने से उसे न्यायालय ने बर्खास्त कर दिया था मौका स्थल के अलावा तफ्तीश में भीग गई तथ्य मिले हैं जिनके आधार पर हम केस की तह तक पहुंच रहे हैं आनंद राय सीएसपी शहर कोतवाली भिंड