बंगाल का जादूगर बतलाने वाले नाथ का जादू प्रदेश में नहीं चलेगा ;शिवराज

मयंक शर्मा

खंडवा २८ अक्टूबर ;अभी तक;  मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने कहा कि 28 सीटो के उपवुनाव में भाजपा शानददार जीत दज कर सरकार को स्थायित्व देगी। उन्होने सवाल किया कि मुझे नंगा-भूखा कहने वाले सेठ कमलनाथ बताएं, वे कहां से आए है।

मांधता सीट के उपचुनाव में तीसरी बार प्रत्याशी नारायण पटेल की जीत को सुनिश्चित करने ग्राम  किल्लौद में आयोजित सभा को संबोधित करने आये सीएम ने पत्रकारो से चर्चा की। वे गद गद थे। उन्होने कहा कि  जनकल्याण और प्रदेश विकास के लिए भाजपा सरकार कार्य करती है। हम जो कहते हैं वह करके दिखाते हैं। झूठे वादे, झूठे प्रलोभन, जनता को गुमराह करना यह कांग्रेस का काम है। अपने ही कर्मों से कांग्रेस की सरकार चली गई और दोष हम पर लगा रहे हैं कि हम विधायक खरीद रहे है। उन्होंने यह भी कहा कि अब सेठ कहलाने वाले श्री नाथ नंगे, भूखे (मुझे बताकर)  ही कांग्रेस  विधायक खरीदने का आरोप लगाकर प्रतीत होता है कि वे मानसिंक संतुलन खो गये है।

सीएम  ने कहा कि 74 वर्षीय कमल नाथ अपनी ही पार्टी की मंत्री का नाम नहीं जानते और अपमानजनक शब्दों का एक दलित महिला के लिए उपयोग करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्षों से देश में एक ही परिवार का कांग्रेस का वर्चस्व रहा ठीक इसी तरह प्रदेश में कांग्रेस  कमलनाथ की कांग्रेस बन कर रह गई है। पार्टी अध्यक्ष कमल नाथ, प्रतिपक्ष नेता कमल नाथ, मुख्यमंत्री के दावेदार कमल नाथ, युवाओं का नेता नकुलनाथ बने हुए हैं।

इसके पूर्व किललौद सभा में सीएम ने कहा कि  पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ के 15 महीनों के कार्यकाल को जनता और किसानों के साथ धोखा बताया। नाथ अपने को बंगाल का जादूगर और  मुझे नंगा-भूखा बताने वाले सेठ कमल नाथ बताएं कि वे कहां से आए हैं। मैं तो यहीं की मिट्टी में पैदा हुआ हूं। श्री नाथ के बंगाल का जादू यहां नहीं चलेगा।कांग्रेस का किसानों का दो लाख तक का कर्जमाफ नहीं हुआ है बल्कि कर्जमाफी के इंतजार में किसान डिफाल्टर हो गए है। कई किसानों को तो प्रमाण पत्र बांट दिए गए। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस द्वारा शिवनारायण पिता सत्यनारायण का 60 हजार 179 की कर्ज राशि जमा कराने का प्रमाण पत्र भी मंच से बताया, यह राशि अभी तक खाते में जमा नहीं हुई। उन्होंने कहा कि 15 महीने में कमल नाथ किसानों के सिर पर ब्याज की गठरी रखकर गये है, लेकिन अब मामा आ गया है। हम इस गठरी का बोझ किसानों के सिर से उतारेंगे।

उन्होंने कहा कि कमल नाथ ने सवा साल में जनहित कि योजनाएं बंद कर दीं लेकिन अब किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है। मंत्री इमरती देवी पर कमल नाथ द्वारा की गई टिप्पणी पर कटाक्ष करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस की ओर से राष्ट्रीय स्तर पर राहुल गांधी स्वयं इस बयान की निंदा कर चुके हैं। फिर भी कमल नाथ माफी नहीं मांग रहे हैं। लगता है देश में दो कांग्रेस हो गई है। दिल्ली में राहुल कांग्रेस और मध्यप्रदेश में कमल नाथ कांग्रेस।

इस मौके पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि  कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो रहे विधायकों को बिकाऊ कहने पर कहा कि हकीकत यह है कि कमल नाथ की प्राइवेट लिमिटेड बनी कांग्रेस में नेताओं का दम घुट रहा है। इसलिए विधायक  पार्टी छोड़ रहे हैं। वह अपने विधायकों को रोक नहीं पाए इसलिए अब उन्हें बिकाऊ कहना शुरू कर दिया। उन्होने  कहा कि कांग्रेस अब पूरी तरह खत्म हो गई है। इस दौरान सांसद नंदकुमार सिंह चैहान, जनपद पंचायत अध्यक्ष पंकजसिंह पटेल, प्रत्याशी नारायण पटेल, मौजूद थे। सभा के अंत में सीएम ने सभी को हाथ उठाकर भाजपा को समर्थन का संकल्प भी दिलवाया गया।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *