*बर्क आधुनिक उदारवाद का प्रतीक हैं- डॉ सोहोनी*

9:21 pm or December 9, 2022
महावीर अग्रवाल
मंदसौर  ९ दिसंबर ;अभी तक;  शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय मंदसौर के अंग्रेजी विभाग द्वारा दिनांक 9 दिसंबर 2022 को आजादी के अमृत महोत्सव एवं  आइ.क्यू.ए.सी. के अंतर्गत एक अंतर्विषयक व्याख्यान “एडमण्ड बर्क का राजनीतिक दर्शन” पर आयोजित किया गया। कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एल. एन. शर्मा तथा कार्यक्रम के मुख्य वक्ता रूप में महाविद्यालय के राजनीति शास्त्र के वरिष्ठ प्राध्यापक एवं अध्यक्ष डॉ. रविंद्र कुमार सोहोनी रहे। विशेष अतिथि के रूप में वाणिज्य विभाग के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ नलवाया उपस्थित रहे।
                                     “एडमण्ड बर्क का राजनीतिक दर्शन” विषय पर आधारित इस व्याख्यान के प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत अंग्रेज़ी विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ. वीणा सिंह ने  किया। उन्होंने अपने स्वागत कथन में अंतर्विषयक व्याख्यानों के महत्व के बारे में कहा कि विषय के विशेषज्ञ के द्वारा दिए गए ज्ञान से हमारे ज्ञान चक्षु खुलते हैं। ऐसे व्यक्तियों को रोम रोम को कान बनाकर सुनना चाहिए।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि
                                 महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एल. एन. शर्मा ने पठन-पाठन के लिए विद्यार्थियों को प्रेरित किया और जीवन में ज्ञान प्राप्त करने और साथियों समेत उसका विस्तार करने के लिए भी प्रेरणा प्रदान की।
                               कार्यक्रम के मुख्य वक्ता डॉ. रविंद्र कुमार सोहोनी ने अपने व्याख्यान में जब भी किसी साहित्यिक व्यक्तित्व के बारे में पढ़ें उनकी पृष्ठभूमि के बारे में जानना भी आवश्यक है, जिससे उनके चिंतन व दर्शन के बारे में भी आप समझ पाएंगे। डॉ. सोहोनी ने एडमंड बर्क की पृष्ठभूमि व उनके चिंतन और दर्शन के बारे में बहुत ही प्रभावशील तरह से विद्यार्थियों को संपूर्ण जानकारी प्रदान की।उन्होंने जीवंत उदाहरण के द्वारा इतिहास से कैसे सीखा जा सकता है यह भी बताया। विद्यार्थियों में प्रेरणा बनाए रखने के लिए सर ने उन्हें उद्धरण दिए जिसमें एक प्रसिद्ध राजनीतिक विचारक लास्की का कथन की बर्क जैसा कोई विद्वान राजनीतिक चिंतन और दर्शन में इंग्लैंड में पैदा नहीं हुआ। उन्होंने अपने व्याख्यान में वर्क के राज्य समाज सरकार विषयक विचारों पर विस्तार से प्रकाश डाला।
कार्यक्रम का सफल संचालन अंग्रेज़ी विभाग की प्रो. आभा मेघवाल ने किया। व्याख्यान में महाविद्यालय के  वाणिज्य विभाग के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. बी.आर. नलवाया, डॉ. एस. के. तिवारी तथा अंग्रेजी विभाग के प्रो. सचिन शर्मा,  प्रो. द्युति मिश्रा सहित बड़ी संख्या में विद्यार्थीगण उपस्थित थे।