बलात्कारी  व फर्जी सब इंस्पेक्टर 25 नव तक पुलिस रिमांड  में।

मयंक शर्मा
खंडवा २४ नवंबर ;अभी तक;  बुरहानपुा जिला पुलिस अधीक्षक राहुल कुमार ने कहा कि ं फर्जी सब
इंस्पेक्टर को पकड़ा गया है। पिछले 5 साल से वह महिला कॉन्स्टेबल से
दुष्कर्म कर रहा था। महिला कॉन्स्टेबल को एसआई बताकर शादी का झांसा देता
रहा। जहां भी महिला काॅन्स्टेबल जाती, वह बहाने से पास के थाने में पदस्थ
होने की बात कहकर उससे दुष्कर्म  करता रहा। न्होने पकडा गया आरोपपी सुभाष
पिता उमेश सिंह सिकरवार निवासी तुलसी कॉलोनी मुरैना बताया है। बुावार को
उसे न्यायालय में पेश कर 25 नवंबर तक रिमांड पर लिया गया है।एसपी ने
बताया कि आरोपी ने फर्जी तरीके से दस्तावेज तैयार कर रखे थे। उसके कब्जे
से आईडी, फर्जी दस्तावेज जब्त किए गए हैं। आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म के
अलावा फर्जी दस्तावेज तैयार करने सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया
है।
एसपी ने बताया कि पीडित महिला आरक्षक की पदस्थापना जहां भी आरक्षक के
बतौर हुई। वहां आरोपी पहुंच जाता था। उसने फर्जी आईडी बना रखी थी, जिसे
महिला काॅन्स्टेबल को दिखाकर कहता था कि मैं सब इंस्पेक्टर हूं।
पदस्थापना अलग-अलग जिलों में बताता रहा। जब महिला काॅन्स्टेबल को पता चला
कि आरोपी की तो शादी भी हो चुकी है, तब उसने एसपी को मामले की शिकायत की
थी। पीडिता ने  फरवरी 2021 में आरोपी के खिलाफ बुरहानपुर में शिकायत की
थी। इसके बाद केस दर्ज कर लिया गया था। पडताल के बाद मंगलवार को आरोपी
सुभाष को पकड़ा गया जो  8 महीने से फरार था।
एसपी ने कहा कि आरोपी की पत्नी एएसआई है लेकिन पत्नि के बदले पति स्वयं
को इंस्पेक्टर बताता रहा है। पीडिता की आरोपी से पहचान  मुरैना की कोचिंग
में 2014 में हुई थी। दोनों में फोन पर बात होने लगी। महिला के भिंड,
मुरैना, बुरहानपुर में पद स्थापना के दौरान आरोपी उसके साथ लगातार
दुष्कर्म करता रहा।चूंकि आरोपी बीच-बीच में बिना बताए चला जाता था। जब भी
महिला कॉन्स्टेबल थाने ले जाने की बात कहती, तो वह टाल देता था। ऐसा होने
पर उसे शक हुआ। महिला कॉन्स्टेबल ने फिर अपने स्तर पर पूछ परख की तो
फ्राड का पता चलाा।

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *