बल्क मात्रा में अवैध शराब घर रखने वाले आरोपी को 2 वर्ष का सश्रम कारावास व 25000रू जुर्माना

महावीर अग्रवाल
मंदसौर / नीमच २६ नवंबर ;अभी तक;  श्री अरविन्द दरिया, मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट, नीमच* द्वारा 12 पेटीयों में कुल 108 लीटर अवैध देशी शराब को घर पर बेचने के लिए रखने वाले आरोपी जालमसिंह पिता केसरसिंह सौलंकी, उम्र-42 वर्ष, निवासी ग्राम पिपल्या नाथावत, थाना नीमच सिटी, जिला नीमच को धारा 34(2) म. प्र. आबकारी अधिनियम, 1915 के अंतर्गत 02 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 25000रू. जुर्माने से दण्डित किया गया।
श्री रितेश कुमार सोमपुरा, एडीपीओ द्वारा घटना की जानकारी देते हुुए बताया कि घटना दिनांक 08.07.2013 शाम के लगभग 6 बजे ग्राम पिपल्या नाथावत स्थित आरोपी के घर की हैं। थाना नीमच सिटी में पदस्थ उपनिरीक्षक एन. एस. सेंगर को एएसआई जे. सी. निनामा के जारिये मुखबिर सूचना मिली की ग्राम पिपल्या नाथावत में जालमसिंह नाम के व्यक्ति ने उसके घर में देशी शराब भारी मात्रा में अवैध रूप से बेचने के लिए रखी हुई हैं। मुखबीर सूचना विश्वसनीय होने से सर्च वारण्ट प्राप्त करने के बाद वह फोर्स सहित ग्राम पिपल्या नाथावत आरोपी के घर गये जहां कमरे की तलाशी लिये जाने पर उसमें 10 पेटी देशी मसाला शराब व 02 पेटी देशी प्लेन शराब की मिली, जिसमें कुल 108 लीटर शराब रखी हुई थी, जिसके रखने व बेचने का आरोपी के पास कोई भी लाईसेंस/परमिट नहीं होने से शराब जप्त कर व उसको गिरफ्तार कर, उसके विरूद्ध पुलिस थाना नीमच सिटी में अपराध क्रमांक 439/13, धारा 34(2) म. प्र. आबकारी अधिनियम, 1915 के अंतर्गत पंजीबद्ध कर शेष आवश्यक अनुसंधान पूर्ण कर चालान नीमच न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।
अभियोजन द्वारा न्यायालय में विचारण के दौरान जप्तीकर्ता अधिकारी, फोर्स के सदस्य व पंचसाक्षी सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराकर आरोपी द्वारा 108 लीटर देशी शराब को बेचने के लिये अवैध रूप से घर में रखने के अपराध को प्रमाणित कराकर, उसे कठोर दण्ड से दंडित किये जाने का निवेदन किया गया। माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी को धारा 34(2) म. प्र. आबकारी अधिनियम, 1915 के अंतर्गत 2 वर्ष का सश्रम कारावास एवं 25000रू. जुर्मानें से दंडित किया। न्यायालय में शासन की और से पैरवी *श्री रितेश कुमार सोमपुरा, एडीपीओ* द्वारा की गई।