बस में स्तनपान करा रही महिला का वीडियो, पुलिस ने नहीं की कार्रवाई, बुरहानपुर एसपी  से शिकायत पर दर्ज हुआ केस

7:34 pm or September 20, 2022

मयंक शर्मा

खंडवा २० सितम्बर ;अभी तक;  खंडवा में जिले में बस से सफर के दौरान एक महिला अपने बच्चे को स्तनपान करा रही थी। इस दौरान बस एजेंट वीडियो बनाने लगा। महिला ऐसा करते देखा तो बस में हंगामा हो गया।महिला ने इसकी शिकायत पिपलोद थना ा पुलिस से की । पिपलौद (खंडवा जिला)पुलिस मामले को सतही तौर पर पर निपटाने में अग्रणी रही। लेकिन पडौस  जिले बुरहानपुर एसपी के पास मामला आने पर उन्होना  वीडियो बनाने वाले पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

बुरहानपुर एसपी राहुल  कुमार ने बताया कि उनके जिले के खकनार थाने में जीरो पर एफआईआर दर्ज की गई है।अब जांच के लिए केस डायरी खंडवा जिले के कोतवाली थाने को भेजी गई है। पूरा मामला 11 सितंबर का है।

महिला का आरोप हे कि  बच्चे को स्तनपान करा रही थी ।महिला का वीडियो किसी ने बना लिया और इसे वायरल कर दिया। महिला ने इसकी शिकायत खंडवा पुलिस से की है। इसकी बाद यहां की पुलिस ने बुरहानपुर एसपी के पास मामला भेज दिया है। बुरहानपुर एसपी ने वीडियो बनाने वाले पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होने बताया कि 32 वर्षीय पीड़िता ने थाने में राजपाल बस के एजेंट आबिद पिता अल्ताफ निवासी खंडवा के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज करवाया। जिसकी जीरो पर कायमी की गई।

दरअसल, इंदौर से खंडवा आए एक दंपति बुरहानपुर जिले के ग्राम देड़तलाई जाने के लिए बस स्टैंड से राजपाल सर्विस की बस में बैठे थे। यह बस खंडवा के कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत जसवाड़ी रोड से गुजर रही थी। इस दौरान महिला अपने डेढ़ वर्षीय बच्चे को स्तनपान करवाने लगी। बस एजेंट आबिद महिला को लगातार देखने के बाद उसका वीडियो बनाने लगा। इससे महिला विचलित हो गई और उसने बस एजेंट आबिद से मोबाइल झपट लिया। बस एजेंट आबिद ने महिला और उसके पति के साथ गाली गलौज की। बस में करीब बीस मिनट तक हंगामा चलता रहा। बस के यात्री भी गुस्से में आ गये। हंगामा बढ़ता देख यात्रियों के गुस्से से बचने के लिए आबिद बस से निकलकर भागा और पिपलोद थाने पहुंचकर मोबाइल छीने जाने की शिकायत की।पीडित महिला और उसका पति भी पिपलोद थाने पहुंचे और बस एजेंट की करतूत पुलिस को बताई। उन्होंने केस दर्ज करने की बजाए इसे मामूली घटना बताते हुए पीड़िता को ही समझाइश देकर आबिद का मोबाइल लौटाने को कहा। इस पर पीड़िता ने पुलिस से सवाल किया कि मेरी तरह आपकी, मां-बहनों का वीडियो बनाते तो क्या आप उसे छोड़ देते! इस बात को लेकर थाने में भी  बहस हुई।

आखिरकार पुलिस ने पीड़िता पर दबाव बनाते हुए पीड़िता से आबिद को वापस फोन दिला दिया। कार्रवाई करने की बजाए आरोपी को वहां से भगा दिया।

वकालत की पढ़ाई कर रहे पीड़िता के पति घटना के दूसरे दिन 12 सितंबर को बुरहानपुर जिले की डेढ़ तलाई पुलिस चैकी पहुंचे और घटना की शिकायत की। दो दिन बीत जाने पर भी जब कोई कार्रवाई नही हुई तो वे बुरहानपुर एसपी से मिलने पहुंचे, जिन्हें आपबीती सुनाई। बुरहानपुर एसपी ने बस एजेंट के खिलाफ तत्काल खकनार थाने में जीरो पर केस दर्ज करवाकर जांच के लिए डायरी खंडवा कोतवाली भेजी।