बहन ने प्रेमी और दोस्तों से कराई भाई की हत्या

2:28 pm or October 18, 2022

मयंक भार्गव

बैतूल १८ अक्टूबर ;अभी तक;  जिला मुख्यालय के मराठी मोहल्ला निवासी एक युवक की उज्जैन में की गई हत्या के मामले में पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझा ली है। इस मामले में मृतक की बहन ने ही अपने प्रेमी सहित तीन अन्य साथियों को हत्या करने की 2 लाख रुपए में सुपारी दी थी। इसके बाद चारों ने मिलकर पहले खूब शराब पिलाई और बेसुध होने पर हथियारों से हत्या कर शव झाडिय़ों में फेंककर आरोपी फरार हो गए थे। इस मामले में पुलिस ने मृतक की सुपारी देने वाली बहन सहित चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में उज्जैन के माकडौन थाना पुलिस बैतूल भी आई थी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उज्जैन जिले के थाना माकड़ौन पुलिस ने दो दिन पहले मिली अज्ञात लाश को लेकर सनसनी खेज खुलासा किया है। बैतूल निवासी शराबी भाई से परेशान होकर बहन ने ह्त्या के लिए 2 लाख रुपए की सुपारी दी थी। जिसके बाद उसके चार साथियों ने मिलकर युवक की हत्या कर दी। बहन अपने भाई की हरकतों से परेशान थी। जिसके चलते बहन ने उज्जैन निवासी अपने प्रेमी के साथ मिलकर हत्या की घटना को अंजाम दिया। 14 अक्टूबर को ग्राम चिरडी के पास तनोडिया रोड पर नाले के समीप एक अज्ञात लाश पुलिस को मिली थी। गांव के चौकीदार की सूचना पर पुलिस ने जब लाश की शिनाखत की तो उसकी पहचान बैतूल निवासी आदतन अपराधी प्रशांत उफऱ् मोनू नाम युवक के रूप में हुई।

मृतक पर दर्ज हैं 8 अपराध

पुलिस को पता चला की प्रशांत वर्मा पर बैतूल में 8 अपराधों में पंजीबद्ध अपराधी भी रहा है, आये दिन अपने माँ पिता को पैसो के लिए शराब पीकर मारता था, छोटी बहन प्रिया वर्मा जो कि इंदौर में रहकर खुद का व्यापार करती है जब बैतूल जाती तो उसका भाई मोनू उसे भी मारता पैसा मांगता। जिसको लेकर बहन ने एक बार मां पिता के साथ नजदीकी थाने पर स्नढ्ढक्र दर्ज कारवाई लेकीन वह नहीं सुधरा। इसी कहानी को लेकर पुलिस ने जांच आगे बढ़ाई तो परते खुलती गई और तीन दिन में पुलिस ने अंधे क़त्ल का खुलासा कर दिया।

बहन ने दी थी हत्या करने 2 लाख की सुपारी

दो दिन तक पुलिस जांच में जुटी रही पुलिस ने काल डिटेल के आधार पर मृतक के दोस्तों से जानकारी ली तो प्रशांत के दोस्त ने सच उगल दिया। जिसके बाद पुलिस ने मृतक की बहन प्रिया वर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने पुलिस का बताया कि उसने उज्जैन निवासी माधव नगर अस्पताल में काम करने वाला प्रेमी अखिलेश व बैतूल निवासी मित्रों के साथ योजना बनाई की भाई को रास्ते से हटाना है। 2लाख रु आरोपी बहन प्रिया ने दोस्त के माध्यम से बदमाशो से सौदा तय किया जिसकी एवज में उसने 55 हजार तीन लोगो को दिलवाए।
ऐसे दिया घटना को अंजाम
प्रिया ने पहले अपने प्रेमी अखिलेष पिता भारत सिंह चौहान को अपने ही भाई की हत्या के लिए तैयार किया फिर प्रशांत के दोस्तों छोटू उफऱ् शरद पिता शोभाराम , दिलीप उर्फ दीपक पिता गुलाब सिंह राजपूत , रिम्पी पिता राजेश सिसोदिया के साथ उसे महाकालेश्वर मंदिर दर्शन करवाने के बहाने उज्जैन लाने के लिए 12 अक्टूबर को राजी किया 13 को दर्शन कर मित्रों के साथ शराब पी जब भाई बेसुध हो गया तो उसका फायदा उठाकर उसने उसके गले में एक कट मारा इसके बाद उज्जैन से कुछ दूरी पर जाकर माकड़ोन थाना क्षेत्र में हथियारों से उसकी हत्या कर दी। वहां से पांचों आरोपी फरार हो गए। 14 तारीख को गांव के चौकीदार को लाश मिली पुलिस को उन्होंने सूचना दी जिसके बाद अब 17 तारीख को पुलिस ने खुलासा किया है। आरोपी बहन प्रिया ने पूछताछ में यह भी बताया कि उसका भाई मां पिता को तो मारता ही था शारब पीकर उससे भी उसकी कमाई मांगता और मारपीट करता था जिससे उसको रास्ते से हटाने की ठान ली थी। जिसके बाद उसने ओस ह्त्या काण्ड को अंजाम दिया।