बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के गजराज को कान्हा पार्क में मिली मौत

4:00 pm or June 14, 2022
मंडला संवाददाता
मंडला १४ जून ;अभी तक;  कान्हा टाइगर रिजर्व के अंतर्गत किसली परीक्षेत्र में 13 जून को एक हाथी की मृत्यु हो गई।
                        इस बारे में जानकारी देते हुए कान्हा टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर एसके सिंह ने बताया कि इस जंगली हाथी को बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व से लाया गया था। यह हाथी बीमार था और लंबे अरसे से उसका इलाज चल रहा था उपचार के दौरान उसकी 13 जून को मृत्यु हो गई।
                     सिंह ने बताया कि उक्त जंगली हाथी को नवंबर 2021 में कान्हा टाइगर रिजर्व लाया गया था। इस हाथी की उम्र 18 से 20 वर्ष की थी। सिंह का कहना है कि यह हाथी बेहद उग्र स्वभाव का था और उसके पैरों में घाव थे। उक्त घावों का इलाज वन्य प्राणी चिकित्सकों एवं विशेषज्ञों के द्वारा करवाया गया। हाथी के अगले पैर के घाव और सूजन ठीक नहीं होने के कारण आगरा एस ओ एस से वन्य प्राणी विशेषज्ञ चिकित्सक डॉक्टर इलैया राजा तथा स्कूल ऑफ फॉरेंसिक साइंस एंड वेटरनरी यूनिवर्सिटी के विशेषज्ञ एवं चिकित्सकों के दल के द्वारा भी हाथी का परीक्षण एवं उपचार परामर्श लिया गया। इसके बावजूद हाथी की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। वन संरक्षक की उपस्थिति में एन टी सी ए के प्रोटोकॉल के अनुसार हाथी का पोस्टमार्टम कराया गया और विसरा को जांच के लिए भेजा गया।