बाजार के मुख्य मार्ग में रोजाना हो रही गंदगी, दिन भर रहती है बदबू मुख्य बाजार में पिकअप वाहन से उतर रही मछलियां

10:31 am or December 28, 2021

नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला 27 दिसबंर  ;abhi tk;  जिले में स्वच्छता रैंकिंग को बेहतर करने नपा द्वारा साल भर प्रयास किए जाते है, बावजूद इसके सर्वेक्षण में विगत वर्षो से अच्छी रैकिंग नगरपालिका को नहीं मिल पा रही है। इसका कारण है कि सर्वेक्षण के पूर्व ही रैकिंग पाने पूरे नगर में साफ सफाई पर ध्यान दिया जाता है, बाकी समय जहां-तहां गंदगी के ढेर लगे रहते है। ऐसा ही आलम शहर के मुख्य बाजार के मुख्य मार्ग में रोजाना सुबह 6 से 8 बजे देखा जा सकता है। यहां पिकअप वाहन से मछलियां उतरती है। जिससे मार्ग किनारें स्थित दुकानों के सामने गंदगी फैल जाती है। दिन भर इसी गंदगी के बीच लोगों आना जाना लग रहता है।  बदबू के कारण लोग परेशान होते है।

                         जानकारी अनुसार नगरपालिका के सफाई कर्मचारियों द्वारा मुख्य बाजार में या तो देर रात सफाई की जाती है या तो तङ़के सुबह सफाई कर दी जाती है। बाजार स्थल में सबसे ज्यादा गंदगी तहसील कार्यालय के पास ही होता है, और उसी स्थान पर के आसपास सुबह मछलियों के वाहन आकर थरमाकोल के डिब्बों से मछलियां यहीं उतारते है। जिसके कारण इनके अपशिष्ट यहीं मार्ग में गिर जाते है, जिससे दिनभर गंदगी का आलम इस क्षेत्र में बना रहता है। यहां का वातावरण दिनभर दूषित रहता है। कई बार वाहन चालकों, ठेकेदार को समझाइश देने के बाद भी यहाँ कोई सुधार नहीं हो पा रहा है। जिससे दिनभर के लिए राहगीरों को बेहद परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस प्रदूषित वातावरण के कारण स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है।  स्वच्छता सर्वेक्षण में अच्छी रैकिंग के लिए नगरीय क्षेत्र में साफ सफाई होना जरूरी है। लेकिन नपा द्वारा इस ओर बिल्कुल ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यहां मछली व्यापारियों द्वारा स्वच्छता को तांक में रखकर अपना व्यापार कर रहे है।

व्यवस्था के लिए किसकी है जिम्मेदारी :

                      रोजाना हो रही गंदगी और बेहद बदबू से बाजार ठेकेदार को इस समस्या से अवगत कराया गया तो उनका कहना है हम बाजार ठेकेदार हैं हमें केवल वाहनों से वसूली करना है एवं बाजार की व्यवस्था बनाने की जिम्मेदारी नगरपालिका परिषद की है। बाजार स्थल में फैली अव्यवस्था और गंदगी की ओर नगर पालिका परिषद का बिल्कुल ध्यान नहीं है। मुख्य बाजार की बिगङ़ती व्यवस्था की आखिर जवाबदारी किसकी है, ऐसी बदहाल व्यवस्था आमजनों के लिए  मुसीबत बनती जा रही है।

थरमाकोल से नालियाँ हो रही चोक :

पिकअप वाहन से मछलियां थरमाकोल के डिब्बों में लाई जाती हैं और बाजार स्थल के मुख्य मार्ग में खाली होती है। खाली करते समय थरमाकोल के टुकङे जहाँ तहाँ बिखरते हैं और नालियों में जाकर एकत्रित हो जाते है, जिससे नालियाँ चोक हो रही हैं एवं पानी की निकासी अवरूद्ध होती है। जिसके कारण नालियों का पानी मार्ग में आने लगता है। जिससे यहां के व्यवसायियों के परेशानी का सबब बन जाती है।  इस समस्या से आम जन को बेहद परेशानी हो रही है। लोगों का कहना है कि एक ओर सङ़क पर मछली की गंदगी और दूसरी तरफ नालियों के चोक होने से उत्पन्न हो रही बदबू से आम नागरिकों को तकलीफ हो रही है। जिसका तत्काल समाधान किया जाना बेहद आवश्यक है।

दूसरे स्थान में स्थानांतरित किया जाए मछली बाजार  :

मुख्य बाजार में मछली के पिकअप वाहनो से रोजाना हो रही गंदगी और बदबू से परेशान नागरिकों ने स्थानीय प्रशासन से मांग की है कि यहां संचालित मछली बाजार को मुख्य बाजार से दूर स्थानांतरित किया जाए। जिससे यहां के व्यापारियों को राहत मिल सके। यहां रोजाना सुबह मुख्य मार्ग पर  मछली की गाङियां आकर खाली हो रही हैं इससे इनके अपशिष्ट गिरने से दिनभर मेन रोड पर गंदगी बनी रहती है। जिससे यहां के स्थायी दुकानदारों और राहगीरो को बदबू से बेहद परेशानी हो रही है। लंबे समय से मांग की जाती रही है कि मछली बाजार को अन्यत्र स्थानांतरित किया जाए, जिससे यह रोजाना की समस्या से निजात मिल सके।

इनका कहना है

रोजाना सुबह हम स्थायी दुकानदारों के सामने मछली के वाहन गंदगी करके जा रहे हैं, जिसके कारण बहुत बदबू बनी रहती है, मछलियां के थरमाकोल के डिब्बों की कतरन से नालियाँ चोक हो रही है जिससे पानी निकासी अवरूद्ध हो रही है। जिसके कारण आमजन समेत व्यापारियों को परेशानी उठानी पड़ रहती है।
नितेश चौरसिया

रोजाना सुबह मछली के पिकअप वाहन मेन रोड पर हमारी दुकानों के सामने गंदगी करके चले जाते हैं। जिससे दिन भर बदबू और मक्खियां भिनभिनाती रहती है। जिसके कारण दिनभर बेहद परेशानी का सामना करना पड़ता है।  इसके स्थायी समाधान को लेकर जिला प्रशासन को ठोस कदम उठाना चाहिए।
निखलेश रहदवानी

मुख्य बाजार की व्यवस्थाएं बिगङ़ती जा रही है, यहाँ पर सुविधाएं तो नही है लेकिन रोजाना  गंदगी और बदबू से हम स्थायी दुकानदारों और बाजार आने वाले आमजनों के लिए मुसीबत बनती जा रही है। जिसको लेकर प्रशासन से इसके समाधान के लिए अपेक्षा कर रहे हैं कि जल्द ही इसका स्थाई समाधान निकाला जाए।
श्याम सिहारे

मछली के पिकअप वाहन आकर खाली हो रहे हैं। जिसको लेकर स्थायी दुकानदार और आम नागरिक दोनों के लिए दिन प्रतिदिन परेशानी बढ़ती जा रही है, नगरपालिका परिषद इस ओर ध्यान दे और मुख्य बाजार में मछली के वाहन खाली होने को प्रतिबंधित करे। जिससे इस परेशानी से निजात मिल सके।
ईशू जैन