बालिका से दुष्कर्म व हत्या मामले मे लपरवाही बरतने पर घनगांव थाना प्रभारी हीना डाबर लाईन हाजिर

मयंक शर्मा
खंडवा १४ जनवरी ;अभी तक; ग्राम जामनिया निवासीे 13 वर्षीय बालिका से दुष्कर्म व हत्या के मामले में  लापरवाही बरतने पर तीन दिन बाद बुधवार देर रात   एसपी विवेक सिंह ने थाना प्रभारी हीना डाबर को लाइन अटैच कर दिया है। टीआई की कार्यशैली को लेकर पंधाना विधायक राम दांगोरे ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख टीआई को हटाने व प्रकरण में आरोपी दिलावर उसकी पत्नी किरण सहित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को आरोपी बनाए जाने सहित अन्य मांग की थी। इसके बाद एसपी ने टीआई को थाने से हटा दिया। विधायक ने  बालिका के परिवार को एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने और अस्पताल द्वारा बालिका का शव सौंपने के एवज में 3 हजार रुपए की मांग को लेकर दोषियो पर कार्रवाई की मांग भी की है।
               विधायक दांगोरे ने सीएम को लिखे पत्र में कहा कि .धनगांव टीआई हिना डावर मृत बालिका के शरीर को अस्पताल छोड़कर चले गये। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वयं प्राप्त नहीं किया। जो कि प्रशासनिक लापरवाही का साक्ष्य है। इसके अलावा टीआई ने महिलाओं को गंदी गालियां दी जिसका वीडियो है।  गांव की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा आरोपियों को भगाया गया है। ग्रामीणों ने मेरे समक्ष ऐसे बयान दिए हैं। कार्यकर्ता पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। उसे सहआरोपी बनाया जाए। घटना के प्रत्यक्षदर्शियों को धमकियां मिल रही हैं। उनको पुलिस सुरक्षा प्रदान की जाए। संबंधित मामले को फास्र्ट ट्रैक कोर्ट में चलाया जाए ताकि बालिका को जल्द न्याय मिले।

कालमुखी क्षेत्र के ग्राम जामनिया में 13 वर्षीय बालिका से दुष्कर्म व हत्या के मामले की जांच के दौरान बुधवार बालिका की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। इसमें मौत का कारण सीने पर वजन व घबराहट से होना बताया है। मामले में दुष्कर्म की भी पुष्टि हुई है।

             एसपी विवेकसिंह  ने आगे बताया कि धनगांव पुलिस ने आरोपी दिलावर राजपूत, उसकी पत्नी किरण के खिलाफ धारा 302(हत्या), 201(साक्ष्य छुपाना), 376(3)(दुष्कर्म), 3/4 पॉक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर किया है।
आरोपी दंपती को चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश किरण सिंह के न्यायालय में पेश कर सहयोगियों के बारे में पूछताछ व साक्ष्य एकत्र करने के लिए एक दिन की रिमांड मांगने पर न्यायालय ने अनुमति दे दी है।  जिला अभियोजन अधिकारी चंद्रशेखर हुक्मलवार ने बताया कि पुलिस की तरफ से एक दिन की रिमांड की मांग की। थी। आरोपी दंपती से पूछताछ के बाद एक दिन का रिमांड मिला है।
               उल्ल्ेखनीय है कि 11 जनवरी को बालिका ने अपनी मां से 5 रुपए लिए और दिलावर राजपूत की किराना दुकान पर बिस्किट लेने गई थी। इस दौरान आरोपी बालिका को कमरे में घसीटकर ले गया और उसके साथ खोटा काम किया। बालिका की मौत हो जाने पर लाश को ठिकाने लगाने के लिए आरोपी व उसकी पत्नी लाश को बोरे में भरक  छत पर छुपा दिया था।
मंा ने स्वयं पडताल कर लापता बेटी की लाश  के ढूढा। मामले का खुलासा होने पर गांव में हड़कंप मच गया। मामला बढ़ते देख आरोपी व उसकी पत्नी गांव छोड़कर भाग गए। कुछ घंटे बाद दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।
इस जघन्य हत्याकांड को लेकर यादव गवली समाज व अन्य सामाजिक संस्थाओं ने बुधवार को खरगोन, धामनोद, कसरावद, भीकनगांव सहित आसपास के शहरों में ज्ञापन देकर विरोध प्रदर्शन कर आरोपी को सख्त सजा देने की मांग की। स्थानीय सांसद नंदकुमारसिंह चैहान ने  विज्ञप्ति जारी कर मामले को लेकर शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा दोषियों को कड़ी सजा दिलाएंगे। उन्होंने खंडवा एसपी व बालिका के परिजन से फोन पर चर्चा की।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *