बिलासपुर-कटनी रूट पर जल्द ही पटरी पर दौड़ सकती है यात्री ट्रेन 

5:26 pm or August 28, 2020
बिलासपुर-कटनी रूट पर जल्द ही पटरी पर दौड़ सकती है यात्री ट्रेन 
मोहम्मद सईद
शहडोल 28 अगस्त ; अभी तक ; कोरोना संक्रमण के कारण बिलासपुर-कटनी रूट पर यात्री ट्रेनों की आवाजाही बंद है। रेलवे ने देश भर में कुछ स्पेशल ट्रेन चलाई, लेकिन बिलासपुर-कटनी रूट के लोगों को इन स्पेशल ट्रेन की सुविधा अभी तक नहीं मिल पाई है। यदि सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो जल्द ही बिलासपुर-कटनी रूट पर स्पेशल ट्रेन पटरी पर दौड़ सकती है।
             रेलवे के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को रेलवे बोर्ड के चेयरमैन श्री वी के यादव ने देश भर के रेलवे जोन के महाप्रबंधकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की है। बताया जा रहा है कि इस चर्चा के बाद ही बिलासपुर जोन से स्पेशल ट्रेन के चलने की संभावना जागृत हुई है।
                  रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चेयरमैन श्री यादव से कांफ्रेंसिंग के बाद ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि इस रूट में चार स्पेशल ट्रेनों की सुविधा मिल सकती है। इनमें जबलपुर, भोपाल और उत्तर भारत की ओर चलने वाली ट्रेन हो सकती हैं। उक्त सभी ट्रेनें वाया कटनी होकर ही चलेंगी। सूत्रों नेेेे बताया की रेलवे इस संबंध में प्रस्ताव तैयार कर रहा है। सूत्रों ने यह भी बताया कि स्पेशल ट्रेनों के शुरू होने में संबंधित राज्य सरकारों की सहमति होना भी आवश्यक है।
              सूत्रों ने यह भी बताया कि यदि उक्त रूट में ट्रेन प्रारंभ हुई तो उसमें कंफर्म रिजर्वेशन के बाद ही यात्री सफर कर सकेंगे। यात्रा के दौरान केंद्र की गाइड लाइन और सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल रखा जाएगा।
               वही इस संबंध में जब बिलासपुर रेलवे जोन के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी साकेत रंजन से चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि यह कोविड19 संक्रमण का वक्त है  और ऐसे समय पर जोनल स्तर पर निर्णय का कोई प्रोसीजर नहीं है। उन्होंने बताया कि संबंधित राज्य सरकारों के आग्रह पर रेल मंत्रालय स्पेशल ट्रेन को चलाने का निर्णय लेता है। उन्होंने बताया कि अभी तक इस तरह का कोई निर्णय नहीं आया है। प्रपोजल के संबंध में उन्होंने बताया कि यह रेलवे का विभागीय मामला है और रेलवे रूटीन में समय-समय पर अपना प्रपोजल भेजता रहता है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *