बीज व्यापारी विनीत अग्रवाल के मौत की गुत्थी हरसूद पुलिस ने सुलझाई

6:11 pm or November 16, 2022
मयंक शर्मा
खंडवा १६ नवंबर ;अभीतक;  जिले की तहसील मुख्यालय हरसूद केखाद-बीज व्यापारी विनीत अग्रवाल के मौत की गुत्थी मगलवार को  हरसूद पुलिस ने सुलझा लिया है। हनीट्रेप के जाल में फंसे व्यापारी ने तंग आकर अपनी जान दे दी। उसे उज्जैन की आर्केस्ट्रा एक्टर ने अपने जाल में फंसाया था।  अपनी बहन और मां के साथ मिलकर तीनों  रुपयों की डिमांड कर रही थी। आए दिन होने वाली रुपयों की डिमांड से तंग आकर व्यापारी ने यह आत्मघाती कदम उठाया।
                             हरसूद थाना प्रभारी अतिम पंवार ने बताया कि आरोपी  गुड़िया, बहन नरगिस और मां मजहरी पर धारा 306 में प्रकरण दर्ज किया है। तीनों पर आरोप है कि उन्होंने विनीत को आत्महत्या के लिए उकसाया है।  गुड़िया और नरगिस को गिरफ्तार कर कोर्ट पेश किया गया। जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया। इस मामले में गुड़िया मुख्य आरोपी है।
                          श्री पंवार ने बताया कि  व्यापारी विनित अग्रवाल से मोबाइल से आखरी बार हुए वीडियो काल से मामला सुलझा है। अपनी जान देने से पहले विनीत ने आखरी कॉल उज्जैन में रहने वाले गुड़िया को किया था। इससे कॉल के पहले उसकी और गुड़िया के बीच वाइस चैटिंग की भी हुई थी। गुड़िया उज्जैन में आर्केस्टा एक्टर है। इसके बाद पुलिस ने उज्जैन से गुड़िया को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो ं सारा मामला उजागर हो गया। इसके बाद गुड़िया और उसकी बहन नरगिस और मां मजहरी को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया। तीनों को हरसूद थाने लाकर पूछताछ की तो खुलासे हुये है। पडताल मे पाया कि करीब डेढ़ साल पहले विनीत अग्रवाल अपने दोस्त के साथ कंपनी के कार्यक्रम में मांडव गया था। यहां उसकी मुलाकात उज्जैन की आर्केस्ट्रा एक्टर गुड़िया से हुई थी। यहां दोनों ने एक-दूसरे को अपने मोबाइल नंबर दिए थे। यहां से बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ जो मुलाकात में बदल गया। विनीत गुड़िया से मिलने उज्जैन जाने लगा था। इसके बाद गुड़िया उस पर बार-बार दबाव डालकर उज्जैन बुलाने लगी। साथ ही उससे रुपयों की डिमांड करने लगी। बार कोड भेजकर उसने विनीत से रुपये भी बुलवाए थे। विनीत ने गुड़िया को मकान बनाकर दिया था। करवा चैथ पर गुड़िया फोन कर विनीत को उज्जैन आने के लिए कहा था। उस पर उज्जैन आने के लिए दबाव डालकर परेशान किया था।

श्री पंवार ने बताया कि व्यापारी विनीत और गुड़िया के बीच अफेयर था। यह बात गुड़िया की मां मजहरी और बहन नरगिस को पता है। नरगिस मेहंदी लगाने का काम करती है। गुड़िया के साथ ही उसकी बहन और मां भी विनीत से रुपयों की मांग करते थे। दोनों उससे फोन पर बात करते थे। यह बात विनीत के मोबाइल नंबर पर वाइस चैटिंग से सामने आई है। नरगिस ने भी बार कोड भेजकर विनीत से अपने खाते में रुपये डलवाए थे। इस तरह से तीनों ही उससे रुपयों को लेकर परेशान कर रहे थे। बताया जाता है कि आरोपित गुड़िया की शादी शाजापुर के युवक से हुई थी। शादी के कुछ समय बाद ही दोनों के बीच तलाक हो गया था।

                        उल्लेखनीय है कि हरसूद निवासी विनीत अग्रवाल शुक्रवार शाम को करीब सात बजे घर से निकला था। इसके बाद उसका कहीं पता नहीं चल सका। शनिवार को शाम में उसकी कार चारखेड़ा ओवर ब्रिज पर खड़ी मिली थी।पुलिस को  कार के पास वाइन और बियर से भरे दो ग्लास मिले थे।  विनीत वाइन पीने का शौकीन था। कार के पास मिला गिलास वाइन से भरा हुआ था। जबकि दूसरे गिलास में बियर नहीं थी। किसी ने बियर पी ली थी। पुलिस को आंशका है कि विनीत के साथ उस रात एक और व्यक्ति था, जो बियर पीता था। हालांकि इस हमराज का अभी तक नाम सामने नहीं आया है। कार में दो मोबाइल मिले थे। इसके बाद सोमवार को नर्मदा के बेक वाटर ने लापता व्यापारी की लाश् उगल दी।सोमवार सुबह उसका शव बैकवाटर में पुलिस को मिला था। मोबाइल पर हुई आखरी बातचीत के आधार पर पुलिस ने उज्जैन निवासी गुड़िया से पूछताछ की थी। इसके बाद सारे मामले का खुलासा हो गया।
                          एसडीओपी रविंद्र वास्कले ने बताया कि, उज्जैन निवासी एक महिला मित्र पर से आखिरी बार बात होना सामने आई है। पुलिस की एक टीम को उज्जैन के लिए रवाना भी कर दिया गया है।विनित की कार में दो मोबाइल मिले थे। वहीं शराब पीने के डिस्पोजल में मिले थे, जिनकी संख्या दो थी। ऐसे में हत्या होने की शंका भी जाहिर हो रही है। या फिर किसी ने नशे की हालत में नदी से फेंक दिया। घटना के 3 दिन बाद से अब तक पुलिस ने सिर्फ कॉल डिटेल निकाली है। जिसमें एक मुस्लिम महिला से बातचीत होना सामने आया है।

शुक्रवार के दिन रात के समय सेक्टर नंबर 5 निवासी विनित पिता विनोद अग्रवाल की कार उनके घर से 8 किलोमीटर दूर चारखेड़ा ब्रिज पर मिली थी। विनित हरसूद नगर के खादबीज व्यापारी व वेयरहाउस संचालक था। मृतक की पत्नी व 7 वर्षीय बालक  है।