बू्रसेलेसिस से गाभिन गाय का हो जाता है गर्भपात टीकाकरण से गायों को बचाएंगे बू्रसेलेसिस से

मंडला संवाददाता
मंडला. एक जनवरी ;अभी तक;  पशुओं की बीमारी ब्रूसेलेसिस को नियंत्रित करने के लिए ब्रूसेलेसिस नियंत्रण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिले में 1 जनवरी से 31 जनवरी 2022 तक राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत यह अभियान चलाया जाएगा। उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं ने बताया कि ब्रूसेलेसिस एक जीवाणु संक्रामक रोग है जो कि पशुओं के साथ-साथ इंसानों को भी प्रभावित करता है।
                             गाभिन पशुओं में इससे अबॉर्शन हो जाता है और पशु जल्दी गाभिन नही हो पाता है। गोवंशीय एवं भैंसवंशीय पशुओं के मादा बच्चे, उम्र 4 से 8 माह के बच्चों में ब्रूसेलेसिस का टीकाकरण किया जायेगा। एक माह तक कार्यक्रम सतत चालेगा। प्रत्येक ग्राम व शहरी वार्ड में 4 माह से 8 माह के बीच के गौवंशीय एवं भैंस वंशीय बछड़ों व पडिय़ाओं को टीकाकरण का कार्य किया जायेगा। टीकाकरण से लाभ ये होगा कि गर्भधारण करने पर 7 से 8 माह में गर्भपात की बीमारी होती है, वह नहीं होगी एवं दूध के माध्यम से इंसानों में यह बीमारी नहीं पहुंच पाएगी। समस्त पशुपालकों एवं डेयरी व्यवसायी सभी अपने पशुओं को टीकाकरण आवश्यक रूप से करायें। सभी ग्राम व शहरी वार्ड में एक माह तक यह अभियान जारी रहेगा। 1 जनवरी 2022 को दयोदया गौशाला आमानाला डिडौरी रोड में सुबह 10 बजे ब्रूसेलेसिस टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया जा रहा है।  उपसंचालक पशुपालन एवं डेयरी विभाग द्वारा यह आयोजन किया जाएगा।