बेटे की आंखों के सामने बांध में डूब गया पिता

मयंक भार्गव
बैतूल  एक नवम्बर ;अभी तक ;  एक पुत्र के सामने ही उसके पिता की जल समाधि हो गई। दरअसल पिता मोटर चालू करने के लिए डेम में गया हुआ था तभी वह गहरे पानी में पहुंच जाने से डूब गया। यह घटना जिला मुख्यालय से करीब 70 किमी. दूर मुलताई थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम जम्बाड़ी में घटित हुई। मृतक का शव सोमवार को डेम से निकालकर पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।
मुलताई थाना प्रभारी सुनील लाटा ने बताया कि रविवार लगभग 11 बजे विनोद पिता ढोंढू पंवार उम्र लगभग 45 वर्ष निवासी हेटीखापा खेत में सिंचाई के लिए डेम से होकर तार लेकर पास रखी मोटर चालू करने जा रहा था। इस दौरान उसके साथ उसका बेटा करण पंवार तथा बहन का पुत्र राधेश्याम भी साथ था। डेम में से जाने के दौरान अचानक ही विनोद डूबने लगा जिसे बचाने के लिए राधेश्याम भी डेम में उतर गया लेकिन वह भी डूबने लगा इसलिए जैसे-तैसे वापस आ गया। वहीं करण उसके पिता को बचाने के लिए चिल्लाता रहा और उसके सामने ही विनोद डेम में डूब गया।
इसके बाद ग्रामीणों द्वारा पुलिस को सूचना देकर विनोद की डेम में खोजबीन की लेकिन नही मिला। सोमवार सुबह शव डेम में उपर आ गया जिसका पंचनामा पुलिस द्वारा बनाकर मर्ग कायम किया गया है। करण के अनुसार उसके पिता विनोद मोटर का तार लेकर इस पार से उस पार जा रहे थे वहीं करण एवं राधेश्याम तार का बंडल को ढीला करके छोड़ रहे थे इसी दौरान यह हादसा हुआ।