बेटे के गम में पिता फंदे पर झूला, परिजन शव लेकर चले तो मां ने छत से कूदकर प्राण त्‍याग दिए

भिण्‍ड से डॉ.रवि शर्मा-

भिंड १४ अक्टूबर ;अभी तक; बेटे की मृत्‍यु का सदमा सीने में दबाए एक लाचार पिता ने आखिरकार मौत को गले लगा लिया। बीटीआई के पास सुंदरपुरा में 6 साल से बीमार चल रहे पिता ने घर के कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। सुबह परिवार के लोग शव को लेकर अंतिम संस्‍कार के लिए श्‍मशान घाट की ओर चले तो बूढी मां ने भी बेटे और नाती के गम में 3 मंजिला छत से कूदकर प्राण त्‍याग दिए। दोपहर ढाई बजे जब दोनें मां-बेटे का एक साथ जनाजा उठा तो वहां मौजूद हजारों लोगों की आंखो में आंसू झलकने लगे।

सुंदर पुरा निवासी कृष्‍ण बिहारी उर्फ पटलू 45 वर्ष पुत्र दीनदयाल शाक्‍य के दो बेटे सतेंद्र और सतीश में से बड़े बेटे सतीश की किडनी खराब होने से मौत हो गई थी। कृष्‍ण बिहारी अपने बेटे की मौत का सदमा बर्दाश्‍त नहीं कर पाए। उनकी तबियत इतनी बिगड़ गई कि ग्‍वालियर में इलाज चल रहा था। वह अपनी पत्‍नी विमला और मां केलादेवी (65) के साथ अपने तीन मंजिला मकान में रहते थे। छोटा बेटा सतेंद्र पत्‍नी व बच्‍चो के साथ तीन मकान छोड़कर अपने परिवार के साथ दूसरे मकान में रहता था। लेकिन खाना सभी एक साथ खाते थे। बीती रात आठ बजे कृष्‍ण बिहारी घर वालो के साथ खाना खाकर कमरे में सोने चले गए। सास व बहू नीचे वाले कमरे में सो रही थी। रात एक बजे कृष्‍ण बिहारी उठे और रस्‍सी का फंदा बनाकर पंखे से फांसी लगा ली। सुवह पांच बजे जब पत्‍नी विमला ने उन्‍हें फंदे से लटका देखा तो आंखे फटी रह गई।

कृष्‍ण बिहारी का शव फंदे से उतार‍कर परिवार के लोग पुलिस के साथ अस्‍पताल पहुंचे पीएम कराकर सतेंद्र घर वालो के साथ पिता का शव लेकर घर पहुंचे । दोपहर तकरीवन एक बजे कृष्‍ण बिहारी की मां घर पर लेटी थी और घर के बाहर अंतिम संस्‍कार के लिए अर्थी उठाई जा रही थी । जैसे ही शव लेकर परिजन चले तो रोने- विलखने की आवाज सुनकर केलादेवी छत पर आ गई उन्‍होने जब यह मंजर देखा तो हाय बेटा कहा जा रहा है यह कहते हुए मां केला देवी(65) वर्ष 3 मंजिला मकान की छत से छलांग लगा दी। परिवार के लोग उसे तुरंत अस्‍पताल पहुंचे लेकिन मां ने बेटे की याद में दम तोड़ दिया कि मोहल्‍ले के लोग भी आंखो से आंशू रोक नही पा रहे थे फिर एक साथ निकली मां बेटे की शवयात्रा

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *