बेरोजगारो को रोजगार दिलाने के लिए जेके सीमेन्ट के खिलाफ आन्दोलन चलाया जायेगाः-दशरथ यादव

9:19 pm or October 3, 2022

दीपक शर्मा

पन्ना ३ अक्टूबर ;अभी तक; पन्ना जिले मे बेरोजगारी चरमसीमा पर है, शिक्षा, स्वास्थ, मंहगाई, भ्रष्टाचार से आम जनता परेशान है। जहां एक ओर सरकार तथा सत्ताधारी जन प्रतिनिधी, जनता के प्रति जिम्मेवारी से काम नही कर रहें है, वहीं दूसरी ओर विपक्षी दल भी गहरी निद्रां मे सोय हुए है। लेकिन अब जनता की लडाई लडने के लिए समाजवादी पार्टी ने कमर कस ली है। जिसके द्वारा जिले की जनता के हक के लिए लडाई लडी जायगी तथा जन विरोधी सरकार तथा प्रशासन के खिलाफ सडको पर उतरेगें।

उक्ताश्य के विचार नव नियुक्त समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष दशरथ सिंह यादव ने होटल मोहन राज विलास मे समाजवादी पार्टी के जिला कार्य कारणी की घोषणा के दौरान व्यक्त किये। श्री यादव ने कहा कि पन्ना जिले मे बेरोजगारी चरमसीमा पर है उसके बावजूद विकास के सपने दिखाकर अमानगंज क्षेत्र मे जेके सीमेन्ट कंम्पनी द्वारा सैकडो किसानो की हजारो एकड जमीन मनमाने दामो पर खरीद ली तथा नौकरी एवं रोजगार देने का लालच दिया गया था लेकिन जिले के एक भी किसान के परिजन को नौकरी नही दी गई। जिससे जमीन बेचने वाले किसान बर्बाद हो गयें है। जिले के जिम्मेवार, जनप्रतिनिधियों द्वारा जेके सीमेंट के खिलाफ आवास नही उठाई जा रही है और न ही उक्त किसानो के परिजनो को तथा जिले के स्थानीय बेरोजगारो को जेके सीमेंट कंपनी मे नोकरी देने के लिए पहल की गई। उक्त मामले की लडाई समाजवादी पार्टी लडेगें तथा किसानो को उनका हक दिलाने के लिए आन्दोलन किया जायेगा।

बैठक को संबोंधित करते हुए। प्रदेश सचिव देवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि पन्ना जिले मे रेत का अवैध कारोबार विगत 1 वर्ष से चल रहा है। जिस पर कोई अंकुश नही लग रहा है, क्योकि यह कारोबार स्थानीय विधायक तथा प्रदेश के खनिज मंत्री बृजेन्द्र प्रताप सिंह एवं क्षेत्रीय सांसद विष्णुदत्त शर्मा के सरंक्षण मे चल रहा है। इस लिए जिले के अधिकारीयों द्वारा अवैध उत्खनन पर कोई कार्यवाही नही की जा रही है। जहां एक ओर प्रदेश सरकार के राजस्व मे करोडो का नुकसान हो रहा है, वहीं दूसरी ओर जिले के लोगो को भारी मंहगी रेत मिल रही है। सिर्फ अधिकारी, नेता रेत का काला कारोबार करके करोडो की कमाई कर रहें है।

उक्त बैठक मे अनेक लोग उपस्थित रहें। जिसमे मुख्य रूप से प्रदेश उपाध्यक्ष समाजवादी पार्टी केपी त्रिपाठी, सतीश दुबे, हरी राम लखेरा, जगदीश कुशवाहा, पूर्व अध्यक्ष कंधीसिंह यादव, देवेन्द्र सिंह लोधी, फिरोज खान आदि।