बैतूल में युवक ट्रेन से कटा, सिर बेंगलुरु में मिला

मयंक भार्गव, बैतूल से

बैतूल १६ अक्टूबर ;अभी तक;  बैतूल रेलवे स्टेशन के समीप राजधानी एक्सप्रेस से एक युवक कट गया था, जिससे उसके शरीर के चिथड़े उड़ गए। लेकिन, उसका सिर यहां से करीब 1300 किमी दूर बेंगलुरु में मिला।

जीआरपी थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक वेदप्रकाश शर्मा ने बताया कि गत 3 अक्टूबर को एक युवक नईदिल्ली- बेंगलुरू राजधानी एक्सप्रेस से कट गया था। लेकिन उसका सिर नहीं मिला था। इस संबंध में जीआरपी के एसआरपी कार्यालय द्वारा घटना की जानकारी सभी थानों में दी गई थी। इसके आधार पर चार दिन पहले यह पता चला कि राजधानी एक्सप्रेस के इंजन में बेंगलुरु में एक युवक का कटा हुआ सिर फंसा मिला है। उसकी फोटो के आधार पर शिनाख्त की गई, जिसमें उसकी पहचान बैतूल निवासी रवि मरकाम (28) के रूप में की गई। परिजनों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण वे बेंगलुरु जाने में असमर्थ थे, इस कारण जीआरपी ने बेंगलुरु में उसके सिर को दफन कर दिया।

उल्लेखनीय है कि बैतूल-आमला रेलवे ट्रेक पर शनिवार 3 अक्टूबर की सुबह माचना ब्रिज पर एक अज्ञात युवक ट्रेन से कट गया। डाऊन ट्रेक पर सुबह लगभग 8 बजे ट्रेन से कटे इस युवक के शरीर के अंग लगभग 100 मीटर तक फैल गए। इसके बावजूद मृतक का सिर और एक हाथ नहीं मिला। वहीं धड़ और पैर माचना ब्रिज के ऊपर मिले।  संभावना जताई जा रही थी कि बाकी अंग नदी में गिर गए हो। जीआरपी ने क्षत-विक्षत शव को बोरियों में भरकर जिला अस्पताल लाया जहां पीएम के बाद शव सुरक्षित रखा गया। जीआरपी ने मर्ग कायम कर शव की शिनाख्त करने के प्रयास किए।

जीआरपी चौकी बैतूल में पदस्थ प्रधान आरक्षक वेदप्रकाश ने बताया कि शनिवार सुबह लगभग 9 बजे माचना ब्रिज पर किसी युवक के ट्रेन से कटने की सूचना मिली। जीआरपी मौके पर पहुंची जहां डाऊन ट्रेक पर किलोमीटर 852 के पास माचना ब्रिज के ऊपर मृतक का धड़ और एक पैर मिला। इसके आगे लगभग 100 मीटर तक अलग-अलग स्थानों पर शरीर के अंग मिले हैं। मृतक का सिर और एक हाथ नहीं मिला है। वेद प्रकाश ने बताया कि मृतक की उम्र लगभग 28 वर्ष के करीब थी। उसने लाल कलर की टी शर्ट और कत्थई मटमैले कलर का पेंट पहना हुआ था। शव के पास पहचान का कुछ भी सामान नहीं मिला था। युवक ने आत्महत्या की या दुर्घटना हुई अथवा वह ट्रेन से गिरा इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। लगभग सौ मीटर तक शरीर के अलग-अलग टुकड़े मिले थे जिन्हें बोरी में भरकर जिला अस्पताल लाया। जिला अस्पताल में पीएम के बाद शव की शिनाख्त होने पर शरीर परिजनों को सौंप दिया गया था। जीआरपी आमला में मर्ग कायम किया गया है।

Related Articles

Post your comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *