ब्रिज से कूदने वाली छात्रा की हालत में सुधार लेकिन थाना प्रभारी किये गये लाईन हाजिर

मयंक भार्गव
खंडवा  ३१ दिसंबर ;अभी तक;  स्थानीय पदमनगर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह सिंगाड़ को शुक्रवार
को लाइन अटैच कर दिया गया है।तदाशय केआदेश्स एसपी विवेकंिह ने दिये है।
फरियादी पक्ष की शिकायत कि पुलिस ने उनकी बात नहीं सुनी के आरोप को  गभीर
से लेकर संबंधित थाना प्रभारी को लाईन हाजिर किया गया है।
इसके बाद नौकरी के नाम पर ठगी का शिकार हुई 12वीं की छात्रा मनीषा यादव
ने गुरूवार अपरान्ह में 40 फीट उंचे रेलवे ब्रिज से कूदकर जान से देने का
प्रयास किया था।
             जिला चिकित्सालय में उचार रत  छात्रा मनीषा यादव को लेकर चिकित्सक डाॅ.
ओपी जुगतावत ने कहा कि की हालत में सुधार है।
                  उधर पुलिस ने इस मामले में पदमनगर पुलिस ने अज्ञात ठग पर प्रकरण दर्ज
किया है। साथ ही जांच के लिए पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने नगर पुलिस
अधीक्षक ललित गठरे के नेतृत्व में विशेष टीम बनाई है। साइबर एक्सपर्ट के
साथ मिलकर यह टीम ठग के बारे में जानकारी जुटाएगी। एसपी ने शुक्रवार को
पदमनगर थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह सिंगाड़ को लाइन अटैच कर दिया गया है।
मनीषा से ठग ने 98 हजार रुपये ठग लिए थे। पिता द्वारा मेहनत से जमा किए
गए रुपये ठगे जाने से आहत मनीषा ने यह खुदकुशी करने के लिये कदम उठाया था
लेकिन अब उसकी हालााात में सुधार है।जबकि पुलिस द्वाारा शिकायत को उपेक्षित किये जाने परिजन आहत है।और उनके
आरोप के तारतम्य में थाना प्रभारी लाईन हाजिर किये गये है।
0मैसेज डिलिट से दिक्क्त।
                   साइबर सेल की मदद से पुलिस इस मामले कों सुलझाने में लगी  है लेकिन
पुलिस को कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मुख्य रूप से ठगी का
शिकार छात्रा ने परिजनों के  भय से मोबाइल पर ठग द्वारा भेजे गए सभी
मैसेंज डिलीट कर दिए थे। साथ ही रुपयों के लेन-देन को लेकर आए मैसेज भी
डिलट कर दिए। इससे पुलिस को ठग का पता लगाने में परेशानी हो रही है।
अब ं पुलिस बैंक से छात्रा के पिता के खाते से किस खाते में रुपये
ट्रांसफर हुए यह पता लगा रही है। मैसेज और नंबर नहीं होने से पुलिस को अब
बैंक का सहारा लेना पड़ रहा है।
0घटना क्रम  ऐसा रहा
                 कोतवाली थाना प्रभरी बीएल बिसेन ने बताया कि पीडिता  छोटी बोरगांव निवासी
मनीषा परमार है। वह अपनी मोपेट क्रमांक एमपी-12-एमडब्ल्यू-3673 से
ओवरब्रिज पर पहुंची। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार गुरूवा अपरान्ह में
युवती ने साइड में मोपेड खड़ी कर मोबाइल पर किसी से  करीब 10 मिनट  बात
करने के बाद पुल की रैलिंग पर चढ़ी और अचानक छलांग लगा दी।
वह  रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक 6 के ट्ेक पर गिरी। गंभीर ं घायल
युवती ज्यादा कुछ बोल नहीं पाई है। मोपेड के रजिस्ट्रेशन से उसके पिता का
मोबाइल नंबर ट्रेस कर पुलिस ने परिजन को सूचना दी व पीडिता को अस्पताल
में भर्ती कराया था।
                 श्री बिसेन ने बताया  ऑनलाइन ठग ने एटीएम का पिन पूछकर पीडिता के खाते से
98 हजार रुपए उड़ा दिए।परिजन के अनुसार  ये पैसे पिता ने बड़ी बहन की शादी
के लिए जमा किए थे।
पीडिता  गूगल पर जॉब सर्च कर रही थी, तभी ठग ने फोन कर एटीएम नंबर लिया।
बैंक खाते 98 हजार रुपए निकाल लिए। उसने पुलिस में भी शिकायत की थी,
लेकिन कार्रवाई नहीं होने पर वह आहत हो गई और खुदकुयाी के लिये ्िरज े
छलांग गा दी। युवती ने मजदूर मां-बाप को लेकर पुलिस में शिकायत की।
पीडिता के पिता परिमाल सिंह यादव अशोकनगर जिले के रहने वाले हैं। करीब 12
साल से खंडवा स्थित अजय एग्रो मिल में मजदूरी करते हैं। मनीषा एमएलबी
स्कूल में कक्षा 12वीं की छात्रा है। उन्होन बताया कि ठगी होने की बात
बतायी तो थाना पदमनगर गए। जहां शिकायत दर्ज करवाई, लेकिन पुलिस ने
कार्रवाई नहीं की। इसके बाद मैंने खाते में बचे करीब 70 हजार रुपए एटीएम
से निकाल लिए। उनकी पांच बेटियां हैं। फैक्ट्री में रहकर ही पत्नी बिरमा
के साथ रात-दिन काम करते हैं। उन्होने कहा कि  बुधवार को पुलिस ने
रिपोर्ट नहीं लिखी। वह सुबह से खंडवा में थे। थाने के बाद दो बार एसपी
ऑफिस गए। जहां बैंक स्टेटमेंट लाने को कहा, तो हम बॉम्बे बाजार स्थित
स्टेट बैंक ऑफिस इंडिया आए। अंदर जाकर बैंक के अधिकारी से बात की, तभी
मैं और बेटी बाहर कुर्सी पर बैठे थे। वह अचानक उठकर बाहर चली गई। डेढ़
घंटे बाद पुलिस का फोन आया कि बेटी पुल से नीचे गिर गई है।