भगवान पशुपतिनाथ का मेला नही प्रकट उत्सव मनाया जाना चाहिए नियमित संतों के प्रवचन, भजन कीर्तन धार्मिक आयोजन होना चाहिए – अनिल संगवानी 

7:40 pm or October 17, 2022

महावीर अग्रवाल

मन्दसौर १७ अक्टूबर ;अभी तक;  भगवान पशुपतिनाथ की स्थापना से लेकर लगातार ग्राम पंचायत फिर नगर पालिका प्रबंध समिति ने हर वर्ष प्रकट उत्सव मनाने का क्रम जारी था जिसमें नियमित भजन कीर्तन संतों के प्रवचन आर्केस्ट्रा के अलावा छोटी छोटी दुकाने झूले चकरी आदि मनोरंजन के साधन हुवा करते थे लेकिन अब केवल व्यवसायक आयोजनों महंगे महंगे कलाकारों को आमंत्रित कर सिर्फ मनोरंजन किया जाता है ..? जब कि प्रकट उत्सव में धार्मिक आयोजन को बढ़ाया देकर धार्मिक वातावरण निर्मित होना चाहिए

उक्त विचार सामाजिक कार्यकर्ता अनिल संगवानी ने विधायक श्रीयशपालसिंह सिसोदिया , प्रबन्ध समिति अध्यक्ष एवं जिला कलेक्टर श्रीगौतम सिंह, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती रमादेवी गुर्जर से प्रेस नोट के माध्यम मांग करते हुए कहा है  कि नगर पालिका परिषद एवं प्रबध समिति को प्रकट उत्सव अवधि में अलग अलग संतों के प्रवचन आर्केस्ट्रा भजनों के कलाकारों को आमंत्रित किया जाना चाहिए साथ ही स्थानीय कलाकारों के भजनों से धार्मिक वातावरण निर्मित किया जाना चाहिए

नई पीढ़ी को अलग अलग सन्तो के प्रवचन भजन संध्या ओर भी कई तरह के धार्मिक आयोजन  पशुपतिनाथ सभा गृह में करना चाहिए जिससे भगवान पशुपतिनाथ की ख्याति ओर बढ़े और पूर्व की तरह प्रकट उत्सव धार्मिक आयोजनों का वातावरण बन सके