भव्य कलश यात्रा के साथ सूर्य मंदिर में शुरू हुई श्रीमद् भावगत कथा

9:59 pm or December 30, 2021

नारायणगंज से प्रहलाद कछवाहा

मंडला 30 दिसबंर ;अभी तक;  सिंहवाहिनी वार्ड स्थित प्राचीन सूर्य मंदिर से गुरूवार की दोपहर को भव्य कलश शोभायात्रा निकाली गई। जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। सैकड़ों की संख्या में कन्या सहित युवतियां, महिलाएं सिर में कलश को रखकर चल रही है बैंड में बज रहे धार्मिक गीतों की धुनों में श्रद्धालु जमकर झूम रहे थे। जहां-जहां से यह शोभायात्रा निकल रही थी वहां का वातावरण धर्ममय हो गया था।

आयोजक सच्चिदानंद महाराज ने बताया कि सिंहवाहिनी वार्ड के नावघाट स्थित अति प्राचीन सूर्य मंदिर में 30 दिसम्बर से 6 जनवरी तक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें भागवतभूषण पं. संतोष शास्त्री पदमी वाले द्वारा भगवान श्रीकृष्ण की संगीतमयी कथा सुनाई जाएगी। प्रतिदिन सुबह संस्कृत पाठ होगा, इसके बाद दोपहर 2 बजे से संगीतमयी कथा सुनाई जाएगी।

गुरूवार को पहले दिन कथास्थल सूर्य मंदिर से शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में रथ में सवार कथावाचक पं. संतोष शास्त्री के साथ सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु अपने सिर में शुभ कलश को रखकर चल रहे थे। शोभायात्रा नावघाट, कबीर चौक, उदय चौक, बुधवारी होते हुए पुन: कथा स्थल नावघाट पहुंची। सच्चिदानंद महाराज ने बताया कि शोभायात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया। रास्ते में कई श्रद्धालुओं ने कथावाचक पं. संतोष शास्त्री के तिलक लगाकर, फूलमाला पहनाकर स्वागत कर आशीर्वाद लिया।

जिले मेें है एकमात्र सूर्यदेव प्रधान मंदिर :

आयोजक सच्चिदानंद महाराज ने बताया कि मां नर्मदा तट में नावघाट स्थित सूर्य मंदिर जहां यह भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। यह सूर्य मंदिर संभवत: जिले का एकमात्र सूर्यदेव प्रधान मंदिर है। यहां सूर्यदेव की अति प्राचीन और बड़ी प्रतिमा है, यहां जो मंदिर बनाया गया था, वह समय के साथ जीर्णशीर्ण हो चुका है सच्चिदानंद महाराज ने बताया कि श्रद्धालुओं के सहयोग से इस प्राचीन सूर्य मंदिर का जीर्णोद्धार कराने का प्रयास किया जा रहा है।