भारत की आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर आयोजित

दीपक कांकर
रायसेन 02 नवंबर ;अभी तक; जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायसेन द्वारा ग्राम पंचायत सलामतपुर में शिविर का आयोजन किया गया। यह शिविर भारत की आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत विधिक साक्षरता एवं जनसहयोग के लिए आयोजित किया गया था। शिविर का शुभारंभ रायसेन न्यायालय के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट राजेश यादव द्वारा किया गया।कार्यक्रम को प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट रायसेन राजेश यादव ने संबोधित करते हुए शिविर में मौजूद महिलाओं को सशक्त और जागरूक करने हेतु उनके अधिकार बताए। उनको बताया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के द्वारा संचालित योजनाएं जिनमें निःशुल्क विधिक सहायता योजना, विधिक साक्षरता शिविर योजना, विवाद विहीन ग्राम योजना, जिला विधिक परामर्श केन्द्र योजना, पारिवारिक विवाद समाधान केन्द्र, श्रमिकों के विरुद्ध अपराध प्रकोष्ठ, महिला एवं बाल सुरक्षा इकाई, मजिस्ट्रेट न्यायालयों में विधिक सहायता अधिवक्ता योजना, विवादों का वैकल्पिक समाधान, लोक अदालत योजना, मध्यस्थता योजना, मध्यप्रदेश अपराध पीड़ित प्रतिकर योजना 2015 का लाभ उठा सकते हैं। और भारत की आज़ादी अमृत महोत्सव के तहत विधिक साक्षरता एवं जनकल्याण मेला द्वारा उनके अधिकार से संबंधित अन्य कानून जानकारी प्रदान कर जागरूक किया गया।शिविर में सुनारी, राजीवनगर और सलामतपुर से आई लगभग पचास महिलाओं सहित पुरुष भी मौजूद थे।
प्राइमरी स्कूल की छात्रा मजिस्ट्रेट से बोली सर हमारे गांव में रोड नही है– शिविर को जब रायसेन न्यायालय के प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट राजेश यादव संबोधित कर रहे थे तो उसी दौरान मुडियाखेड़ा ग्राम पंचायत के लांबाखेड़ा गांव के प्राइमरी स्कूल की छात्रा पल्लवी ने उनसे कहा कि सर हमारे गांव में रोड नही है। तो उन्होंने गांव व पंचायत का नाम पूछकर पल्लवी से बोला कि बेटा शीघ्र ही जनपद सीईओ से चर्चा कर आपकी समस्या का समाधान का प्रयास किया जाएगा।