भिंड इटावा आगरा कोटा पैसेंजर 18 महीने बाद भी नहीं हुई शुरू, बस से करना पड़ रहा है सफर

 भिंड से डॉक्टर रवि शर्मा
भिंड १७ सितम्बर ;अभी तक; कोटा इटावा एक्सप्रेस ग्वालियर भिंड और ग्वालियर आगरा पैसेंजर 18 माह बाद ही पटरी पर नहीं लौट सके । इन ट्रेनों के रद्द होने से यात्री आने जाने को परेशान हैं । खास बात यह है कि कोटा इटावा के बीच एक ही ट्रेन है जो कोरोना के चलते डेढ़ साल बाद भी बहाल नहीं हो सकी । वहीं ग्वालियर भिंड पैसेंजर और ग्वालियर आगरा पैसेंजर के रद्द होने से छोटे स्टेशन के लिए सफर करने वाले यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है ।
          ग्वालियर से कोटा जाने के लिए इस समय कोई सीधी ट्रेन नहीं है इससे यात्री बस सिर्फ आगरा से कोटा के लिए पकड़ रहे हैं यात्री रेल प्रशासन ग्वालियर आगरा पैसेंजर इसलिए बाहर नहीं कर रहा है अभी झांसी से आगरा के बीच स्पेशल एक्सप्रेस चल रही है पैसेंजर ट्रेन थी जिसे उत्तर मध्य रेलवे की लगभग 90 प्रतिशत ट्रेन पटरी पर आ चुकी है कोविड-19 सर जैसे ऐसे कम हो रहा है वैसे वैसे ट्रेनों का बाहर किया जा रहा है जब ट्रेन रह गई है देवी रेलवे बोर्ड की मंजूरी मिलने के पर जल्द बाहर करेंगे डॉक्टर शिवम शर्मा मुख्य पीआरओ जनसंपर्क अधिकारी झांसी उत्तर प्रदेश